अवचेतन का रहस्य लोक…

0

आज के दौर में वैज्ञानिक भी स्वीकारने लगे हैं कि शब्दों के सही उच्चारण ,लय और आरोह-अवरोह से उठती ध्वनि तरंगें मनुष्य के मस्तिष्क को और वातावरण को प्रभावित करती हैं। तांत्रिक एवं मांत्रिक सम्प्रदायों में शब्दों के सूक्ष्म व रहस्यमय शब्दखंडों को मंत्र कहा जाता है। यज्ञ में किए गए उत्तम हवन करते हुए अंतश्चेतना की इस अपार ताकत से आसानी से आप जुड़ सकते हैं। हस सभी एक जीवन ऊर्जा से निर्मित हैं और आपका यह अनोखा मस्तिष्क क्या कुछ कर सकता है, आप बिल्कुल नहीं जानते। वास्तव में ज्ञान के वृहदाकार पिरामिड का एक छोटा सा अंश आपका अवचेतन मस्तिष्क है जो आपके उस दिमाग पर नियंत्रण रखता है जिससे आप सोचने समझने का कार्य लेते हैं। कुल मिला कर अपने दिमाग का हम 10-20 प्रतिशत ही उपयोग करते हैं इसलिए अपार ऊर्जा वाला यह अवचेतन हिस्सा बिना सुने ही रह जाता है। \

abchetana-2जब भी आप दिमाग के इस अवचेतन हिस्से पर दस्तक देंगे आपको असाधारण शक्ति मिलेगी। इसे पाने का सबसे आसान तरीका ध्यान की एकाग्रता है। ध्यान आपके दिमाग के तौर-तरीके को सावधान करता है। जैसे-जैसे ध्यान की एकाग्रता बढ़ती जाएगी वैसे-वैसे आप चेतना की गहराई के स्तर तक उतरते जाएंगे। मन एकाग्र करने के लिए आप उन्हीं ध्वनि तरंगों का सहारा ले सकते हैं । सही आरोह-अवरोह के साथ जो भी मंत्र सुगम लगे उसे आधार बना कर ध्यान एकाग्र कर सकते हैं। मस्तिष्क का यह अवचेतन रहस्यलोक क्या है इसके बारे में कोई नहीं जानता और न इसका जवाब किसी के पास है। दरअसल यह मस्तिष्क की चेतनाशक्ति का केंद्र है। यहां हमारी सोचों, भावनाओं और अतींद्रिय क्षमताओं का निर्माण तथा संरक्षण किया जाता है। क्या मस्तिष्क हमारी जटिल समस्याओं का भी समाधान कर सकता है ? शायद हां…और इसीलिए वैज्ञानिक मस्तिष्क की असाधारणता का लाभ उठाना चाहते हैं। इसे विकसित करने के लिए निम्न उपाय काम में लाए जा सकते हैं।

  • किसी दिन एक खूबसूरत सी जगह एकांत में बैठ जाएं और अपनी एक अच्छी सी ख्वाहिश के बारे में सोचें। सोचें कि आपका वह काम पूरा हो गया है। इसे बार-बार कागज पर लिखें और जोर से कहें। जल्दी ही आपका अवचेतन मस्तिष्क इसे ग्रहण कर लेगा और इस पर काम करना शुरू कर देगा।
  • खुद में विश्वास रखें … लगातार आप अपनी इच्छा के बारे में सोचते रहेंगे, बोलते रहेंगे तो अवचेतन मस्तिष्क इसी दिशा में सक्रिय हो जाएगा।
  • अवचेतन मस्तिष्क को अधिक सक्रिय बनाने के लिए सबसे अच्छा तरीका विजुअलाइजेशन है। आप अपने सपनों को सकार होता महसूस करें और उसे साकार होता हुआ भी देखें।
  • अपनी कल्पनाओं को हवा दें हर समय अच्छा और सकारात्मक सोचें…यहां तक कि एक पूरा काल्पनिक संसार बना लेने में कोई हर्ज नहीं है।
  • ऐसी बहुत सारी बातों पर विश्वास करना सीखें जिन्हें भाग्य का खेल या चमत्कार कहा जाता है।
  • ऐसे अभ्यास निरंतर करने से आपके जीवन में सकारात्मक परिवर्तन आने लगेगा यह आपके प्रयासों का ही परिणाम होगा। हां, कुछ भी पाने के लिए अपने इस छिपे हुए दिमाग पर दस्तक देना जरूरी है।

You might also like More from author

Leave A Reply