- Advertisement -

जल्द बुढ़ापे से बचना है तो करें ये 10 उपाय ….

0

- Advertisement -

उम्र का बढ़ना लाजिमी है पर आप एक अच्छी और स्वस्थ जीवन शैली अपना कर इसे बेहतर बना सकते हैं और बढ़ती उम्र की परेशानियों से भी बच सकते हैं। हर आदमी को एक दिन तो बुढ़ापा आना ही है। लोग उम्र दराज तो होंगे और ऐसा ही साल दर साल चलता ही रहेगा। हमें यह सोचना आवश्यक है कि हम जहां तक हो सके स्वस्थ रहें। बुढ़ापा आए लेकिन उसका असर हम पर धीरे-धीरे हो। हम स्वस्थ जीवन शैली अपनाकर खुद को हर उम्र में बीमारियों और अन्य शारीरिक तथा मानसिक समस्याओं से दूर रख सकते हैं। आप जल्दी आने वाले बुढ़ापे से कैसे खुद को बचा सकते हैं इसके लिए हम आपको कुछ उपाय बताने जा रहे हैं …

ओमेगा फैटी एसिड लें : यह मछली, अन्य सी फूड तथा अलसी के बीज से प्राप्त किया जा सकता है। ये मस्तिष्क को सक्रिय रखते हैं और सेल्स की टूट फूट की क्षतिपूर्ति भी करते रहते हैं। ठंडे पानी की मछली इसके लिए अच्छी मानी जाती हैं।इस के अलावा नट्स, फ्लैक्स सीड और अखरोट भी उपयुक्त होते हैं इन्हें वैसे खाने के अलावा इनका तेल भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

भरपूर पानी पिएं : एक दिन में कमसे कम 8 ग्लास पानी पीना आवश्यक है। कोई भी तरल पुरुषों के लिए 3.7 लीटर तथा महिलाओं के लिए 2.7 लीटर लेना जरूरी है । यह डिहाइड्रेशन से बचाता है जो कि सिर दर्द देता है और मन में बुरे ख्याल भी लाता है।

विटामिन बी लेना न भूलें : फोलेट बी 6 और बी12 सबसे ज्यादा लाभदायक हैं। वैसे जो अच्छे स्वस्थ प्रौढ़ हैं उन्हें अपने नियमित आहार में ही विटामिन बी 12 मिल जाता है। वैसे विटामिन बी 12 मछली, अंडे, मांस और दुग्ध उत्पाद से भी प्राप्त होता है। फोलेट हमें फलों, सब्जियों, साबुत अनाजों, बींस और ब्रेकफास्ट सेरेल्स से मिल जाता है। विटामिन बी 6 अनाज बींस,पोल्ट्री उत्पाद,पत्तेदार सब्जियां पपीता और संतरे से हासिल किया जा सकता है।

अपना मस्तिष्क हमेशा सक्रिय रखें : इससे मस्तिष्क के सेल्स के टूट-फूट की क्षतिपूर्ति होती रहती है साथ ही भविष्य में होने वाली क्षति को भी रोका जा सकता है। इसके लिए पजल्स, ड्राइंग और अन्य हॉबीज को अपना सकते हैं।

एंटीएजिंग फूड लीजिए : मशरूम और ब्लू बेरीज इसके लिए बेहतर विकल्प हैं। ये अल्जाइमर से बचाते हैं।

मांसपेशियों की एक्सरसाइज करें : लगभग 50 की उम्र तक आते-आते हम मांसपेशियों का लचीलापन खो देते हैं। इसके बाद मोटापा बढ़ने से डायबिटीज और दिल की बीमारी होती है इससे बचने के लिए सीड्स, वाइल्ड फिश, चिकन और एवाकॉडो आहार में शामिल करें । योगा करना भी शरीर की फ्लेक्सबिलिटी को बढ़ाएगा।

प्रोटीन तथा खनिज युक्त आहार लें : इम्यून सिस्टम ठीक रहने से रोग से बचने में मदद मिलती है इसके लिए प्रोटीन तथा खनिज युक्त आहार लें। विटामिन सी और ई अच्छे एंटी ऑक्सीडेंट हैं जो फलों और सब्जियों में पाए जाते हैं। नट्स ,सीड्स और कीवी फल इसके लिए उपयुक्त आहार हैं।

विटामिन डी लें : विटामिन डी सूरज की रोशनी से मिलता है पर ज्यादातर लोग उम्रदराज होने पर धूप में कम ही बैठते हैं जबकि यह इम्यून सिस्टम दिल और हड्डियों को ठीक रखता है तथा कैंसर से भी बचाता है ।

चीनी कम लें : प्रोसेस्ड फूड का भी कम ही इस्तेमाल करें और हर खाने के बीच में समय का अंतर रखें। कुछ फैट्स भी जरूरी हैं इसके लिए अवोकाडो, मछली, नट्स, ऑलिव ऑयल लेते रहना चाहिए।

प्राकृतिक परिवेश में अधिक समय बिताएं : यह आपको प्रसन्नता देगा तथा उत्साह में भी वृद्धि करेगा। एक वॉक भी आपके लिए अच्छी होगी। अच्छे विचार मन में ले आएं इससे हार्मोंस सक्रिय रहते हैं और तनाव दूर हो जाता है। भोजन में अधिक नमक का प्रयोग न करें।

- Advertisement -

%d bloggers like this: