Advertisements

सिंहापुर में पूरे साल जलाशयी रहते हैं नारायण…

- Advertisement -

वैसे तो हमारे पौराणिक ग्रंथों में भगवान विष्णु के क्षीर सागर में शयन करने की बात कही गई है। पर सचमुच उन्हें जलाशयी बना देने की बात भी हो सकती है यह कल्पना से परे है। उड़ीसा में भुवनेश्वर से उत्तर की ओर 80 किलोमीटर दूर एक गांव सिंहापुर है। गांव के पश्चिम की ओर एक विशाल जलाशय है इस जलाशय में भगवान विष्णु पूरे साल जलाशयी रहते हैं। साल भर जल में निवास करने के बाद विषुव संक्रांति के दिन ही बाहर आते हैं। तब इन्हें जलाशय से बाहर लाया जाता है ढोल, शंख और घंटा बजाते हुए उनके आगमन के उपलक्ष्य में भक्त हरिबोल हुलहुली की ध्वनि के साथ इन्हें पूर्व की ओर पूजा स्थल पर ले जाते हैं।वहां उनके ऊपर लगा कीचड़ उतारा जाता है। जिसे लोग आशिर्वाद की तरह माथे पर लगाते हैं। वहां श्री नारायण देव जी को स्नान करवाया जाता है, सुंदर वस्त्राभूषण पहनाए जाते हैं। फिर विधिविधान से इनकी पूजा होती है तब ये मंदिर में प्रवेश करते हैं। इस मंदिर की पूर्वदिशा में एक और मंदिर है जहां नारायण जी की चल प्रतिमा मदनमोहन जी के रूप में विराजमान है। उन्हें भी यहां लाया जाता है यज्ञमंडप में तीन दिन तक हवन -पूजा होती है। चौथे दिन भगवान पुन: जलाशय में जाने के लिए यात्रा करते हैं और उसी धूमधाम के साथ उन्हें जलाशय में उतार दिया जाता है। यहां की लोक कथाओं में कहा गया है कि जलाशय में जाने के बाद भगवान अंतर्धान हो जाते हैं और अगले साल अपनी लीला करने के लिए बाहर आ जाते हैं।

Advertisements

- Advertisement -

%d bloggers like this: