- Advertisement -

आखिर कौन सी है सबसे पुरानी सभ्यता …

0

- Advertisement -

अब तक हम मिस्र और सुमेर सभ्यता को भी प्राचीन सभ्यता मानते रहे हैं। सवाल यह है कि क्या इससे पहले भी कोई ऐसी सभ्यता थी, जो काफी समृद्ध थी और जिसका कोई इतिहास दर्ज नहीं है। अंटार्कटिका की ऑइस कैप के पिघलने से कुछ ऐसे रहस्य सामने आने लगे हैं, जो अगर सच साबित हो गए तो सारा इतिहास ही बदल जाएगा। हालांकि यह सेटेलाइट से ही देखा गया है पर अंटार्कटिका में एक महल जैसी संरचना उभर कर सामने आई है जो अहसास दिलाती थी कि यहां कोई सभ्यता थी, जो काफी उच्च क्षमता से युक्त थी। यह बर्फ में दफन एक ऐसी प्राचीन सभ्यता है, जिसके बारे में हम कुछ नहीं जानते। यह काफी विस्तृत क्षेत्र में फैला हुआ दिखता है।

लगभग 400 फीट की ऊंचाई वाला गुंबद किसी मध्ययुगीन किले जैसा ही लगता है। इसकी दीवारें कंकरीट की हैं । यह एक गोल ढांचा है, जो पक्का प्रमाण देता है कि यहां कोई प्राचीन सभ्यता तो थी जो कि दक्षिण ध्रुवीय क्षेत्र में कभी अच्छी तरह फली-फूली थी। कुछ लोग इसे परग्रही लोगों का बनाया निर्माण मानते हैं। कुछ कहते हैं कि यह मानव निर्मित है। वास्तव में यह एक महल या किले का आभास देता है, जो अब तक बर्फ की मोटी परत के नीचे दबा हुआ था। अगर इस सभ्यता का स्रोत पता चल जाता है तो यह मिस्र और सुमेर की सभ्यता से भी प्राचीन सभ्यता होगी क्योंकि अंटार्कटिका इन दोनों से पुराना है।

जाहिर है कि यह सभ्यता वहां तब थी जब वहां की जलवायु आज जैसी नहीं थी और तब यह जमा हुआ नहीं था। तब वहां एक उच्चस्तरीय मानव सभ्यता का निवास था। अब बर्फ के नीचे यह सभ्यता खो गई है। हालांकि वैज्ञानिकों का कहना है कि हैवी स्नोफॉल और हवा के घर्षण से ऐसी आकृतियां बन जाती हैं। ठीक है ,पर ओवल शेप की आकृति बन जाना असंभव है। साथ ही 400 फीट के एरिया में ऐसा निर्माण हवाएं नहीं बना सकतीं। इतना ही नहीं यहां पिरामिड जैसी आकृतियां भी देखी गई हैं जो सटीक ज्यामितीय आकार में हैं।

- Advertisement -

Leave A Reply