Advertisements

Promotion : टीजीटी से बने PGT, 35 शिक्षकों के नाम की List जारी

- Advertisement -

PGT: 25 मई तक नए स्थान पर करना होगा ज्वाइन

PGT: शिमला। सरकार ने टीजीटी से पीजीटी में पदोन्नत होने वाले शिक्षकों की एक और सूची जारी की है। इस सूची में 35 शिक्षकों के नाम हैं और इन सभी से 25 मई तक नए स्थान पर ज्वाइन करने को कहा गया है। इस संबंध में उच्च शिक्षा निदेशक डॉ. बीएल विंटा ने आदेश जारी कर दिए हैं। टीजीटी से पीजीटी में पदोन्नत होने वाले शिक्षक, इंग्लिश, केमिस्ट्री, कॉमर्स, इक्नोमिक्स, हिंदी, इतिहास, गणित, फिजिक्स, राजनीतिक शास्त्र और संस्कृत विषय के हैं। टीजीटी से पीजीटी में केवल वे ही शिक्षक पदोन्नत हुए हैं, जिनकी विषय विशेष में मास्टर डिग्री है। उच्च शिक्षा निदेशक ने इन सभी शिक्षकों की नए स्कूलों में तैनाती भी दे दी है और इनकी ये तैनाती नियमित रूप में हुई है।

जनजातीय और दुर्गम क्षेत्रों में भी देनी होंगी सेवाएं

इन शिक्षकों की पदोन्नति विभागीय पदोन्नति समिति की बैठक में नाम क्लीयर होने के बाद हुई है। ये पदोन्नति उन शिक्षकों की हुई है, जिन्होंने पीजीटी में पदोन्नति की ऑप्शन मांगी थी। उच्च शिक्षा निदेशक ने अपने आदेशों में कहा है कि ये पीजीटी शिक्षक छठी से दसवीं कक्षा तक वे विषय पढ़ाएंगे, जो उन्होंने स्नातक तक पढ़े हैं। इसके साथ-साथ ये शिक्षक जमा एक और जमा दो के विद्यार्थियों को अपने विषय भी पढ़ाएंगे। ये शिक्षक स्नातकोतर स्तर पर पढ़े गए विषय को जमा एक और जमा दो के विद्यार्थियों को पढ़ाएंगे। आदेशों में कहा गया है कि जो शिक्षक गैर जनजातीय और गैर दुर्गम क्षेत्रों में तैनात किए गए हैं, उन्हें जनजातीय और दुर्गम क्षेत्रों में भी अपनी सेवाएं देनी होंगी।

आदेशों में यह भी कहा गया है कि ये पदोन्नति सशर्त दी जा रही है और यदि किसी शिक्षक के खिलाफ किसी तरह की शिकायत होगी या फिर उसके खिलाफ कोई जांच चल रही होगी या फिर कोई अनुशासनात्मक कार्रवाई चल रही होगी तो उन्हें पदोन्नति नहीं मिलेगी और पदोन्नत हुए सभी शिक्षकों को इस संबंध में लिखकर देना होगा। इसके लिए एक परफॉर्मा भी दिया गया है। उच्च शिक्षा निदेशक ने सभी संबंधित स्कूलों के प्रिसिंपलों और हेडमास्टरों से कहा है कि वे प्रोमोट किए गए शिक्षकों को जल्द से जल्द रिलीव करें।

खुशखबरी : घुमारवीं में भरे जाएंगे Security Guard के 200 पद

Advertisements

- Advertisement -

%d bloggers like this: