Advertisements

मक्का मस्जिद Blast Case: सबूत पेश नहीं कर सकी NIA,असीमानंद सहित सभी आरोपी बरी

Mecca Masjid Blast

- Advertisement -

नई दिल्ली। NIA की विशेष अदालत ने हैदराबाद की मशहूर मक्का मस्जिद में Blast Case में मुख्य आरोपी स्वामी असीमानंद सहित सभी आरोपियों को बरी कर दिया है। 2007 में हुए विस्फोट के मामले में आरोपियों के खिलाफ पर्याप्त सबूत न होने के कारण Court ने ये फैसला सुनाया है। NIA मामलों की चतुर्थ अतिरिक्त मेट्रोपोलिटन सत्र सह विशेष अदालत ने पिछले हफ्ते फैसले की सुनवाई 16 अप्रैल तक के लिए टाल दी गई थी। इस Blast में नौ लोगों की मौत हुई थी और करीब 58 लोग घायल हो गए थे। स्थानीय पुलिस की शुरुआती छानबीन के बाद मामला CBI को स्थानांतरित कर दिया गया था। इस मामले में CBIने एक आरोपप त्र दाखिल किया गया।

इसके बाद 2011 में CBI से यह मामला राष्ट्रीय जांच एजेंसी ( NIA) के पास गया। इस धमाके में स्वामी असीमानंद समेत कुल 10 लोगों पर आरोप लगा था, एक आरोपी की मौत हो चुकी है। स्वामी असीमानंद ने 2011 में मजिस्ट्रेट को दिए इकबालिया बयान में स्वीकार किया था कि अजमेर दरगाह, हैदराबाद की मक्का मस्जिद और कई अन्य जगहों पर हुए बम Blast में उनका और कई अन्य हिंदू चरमपंथी संगठनों का हाथ है। हालांकि बाद में असीमानंद अपने बयान से पलटते हुए कहा था कि यह बयान उन्होंने NIA के दबाव में दिया था।

Advertisements

- Advertisement -

%d bloggers like this: