- Advertisement -

सेब की फसल पर मौसम की मार, उत्पादन में 50 फीसदी की गिरावट 

Apple production in Himachal will decrease by 50 percent this year 

0

- Advertisement -

शिमला। इस साल लगातार मौसम की मार झेलने के कारण हिमाचल में सेब का उत्पादन लगभग आधा रहने का अनुमान है। डिप्टी कमिश्नर अमित कश्यप का अनुमान है कि राज्य में इस साल 98 लाख पेटी सेब का उत्पादन होगा। पिछले साल 1.15 करोड़ पेटी सेब पैदा हुआ था। 
डिप्टी कमिश्नर शिमला बुधवार को सेब सीजन की पूर्व तैयारियों के लिए बैठक को संबोधित कर रहे थे। बैठक में जिला के बागवान संगठनों, विभिन्न ट्रांसपोर्ट यूनियनों के पदाधिकारियों और जिला के वरिष्ठ अधिकारियों ने हिस्सा लिया। अमित कश्यप ने बताया कि सीजन में ढुलाई की दरें सभी उपमंडलाधिकारियों द्वारा, विभिन्न बागवान संगठनों और ट्रांसपोर्ट यूनियनों से समन्वय के बाद निर्धारित की जाएंगी तथा सभी उपमंडलाधिकारी इस बारे में 10 दिन के भीतर डिप्टी कमिश्नर को अपनी रिपोर्ट देंगे।

ड्राइवर-क्लीनरों को मिलेंगे आईडी कार्ड 

सेब सीजन के दौरान व्यवस्था को सुचारू बनाने के लिए 15 जुलाई से 31 अक्तूबर, 2018 तक फागू में मुख्य नियंत्रक कक्ष खोला जाएगा। नारकंडा, खड़ापत्थर, नैना (बलग के पास) फेडजपुल व कुड्डु और रामपुर में संबंधित उपमंडलाधिकारियों द्वारा सब कंट्रोल रूम स्थापित किये जाएंगे। सेब की ढुलाई वाले ट्रकों के चालकों व क्लीनरों के पहचान-पत्र बनाये जाएंगे और इसके लिए 150 रुपये की फीस निर्धारित की गई है। पिकअप वाहन के ड्राईवरों के लिए यह राशि 100 रुपये निर्धारित की गई है। उन्होंने एपीएमसी को निर्देश दिये कि वह संबंधित उपमंडलाधिकारी के समन्वय के साथ कार्य करेंगे तथा बागवानों से किसी भी तरह की धोखाधड़ी को रोकने के लिए सख्त मापदंड अपनाए जाएंगे।

- Advertisement -

%d bloggers like this: