Advertisements

उल्लास सम्मेलनः Asha Worker के तीन साल, कुल्लवी नाटी डाल मनाया जश्न

आशा वर्करों ने मुख्यातिथि सुशील चंद्र का किया भव्य स्वागत

0

- Advertisement -

कुल्लू। कार्याकाल के तीन साल पूरे होने पर आशा वर्करों ने कुल्लू में जश्न मनाया। जिला मुख्यालय के देवसदन में आशा वर्करों के जिला स्तरीय उल्लास सम्मेलन का आयोजन हुआ। इसमें सीएमओ कुल्लू डॉक्टर सुशील चंद्र शर्मा ने बतौर मुख्यातिथि शिकरत की। सभी आशा वर्करों ने मुख्यातिथि सुशील चंद्र का भव्य स्वागत किया, जिसमें अराजपत्रित कर्मचारी संघ के अध्यक्ष व कार्यकारिणी के सदस्यों ने भी भाग लिया।

इस मौके पर आशा वर्कर संघ की जिला अध्यक्ष ने डॉक्टर सुशील चंद्र शर्मा को कुल्लवी टोपी मफलर व स्मृति चिंह भेंट की स्वागत किया। कार्यक्रम में उपस्थित बीएमओ आनी डॉक्टर रंजीत, डॉक्टर गुलेरिया के साथ अराजपत्रित कर्मचारी संघ के अमर चंद ठाकुर सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर आशा वर्करों ने कुल्लवी नाटी की रंगारंग प्रस्तुति दी। अध्यक्ष दिशा देवी ने मुख्यातिथि डॉक्टर सुशील चंद्र शर्मा सहित सभी आशा वर्करों का आभार जताया। उन्होंने कहा कि आशा वर्करों ने तीन वर्षों का कार्याकाल पूरा होने पर उल्लास कार्यक्रम का आयोजन किया है उन्होंने कहा कि जिला में आशा वर्कर स्वास्थ्य विभाग के सभी कार्यक्रमों को सुचारू रूप से कर रही है। उन्होंने कहा कि पूर्व की सरकार ने आशा वर्करों की मांग को पूरा किया है, जिसमें एक हजार रुपये मासिक भत्ता बढ़ाया है।

उन्होंने कहा कि नई सरकार से भी हमारी पूरी उम्मीदें है कि वो भी आशा वर्करों की मांगों पर गौर करेगी, ताकि आशा वर्करों को किसी भी प्रकार की समस्या का सामना ना करना पड़े। उन्होंने कहा कि अराजपत्रित कर्मचारी संघ ने उनका पिछले तीन वर्षों में  साथ दिया, जिससे आज आशा वर्कर संगठित हुई हैं। उन्होंने कहा कि अर्बन आशा वर्करों के  कार्यकाल को एक वर्ष पूरा हुआ है, जिससे इस सम्मलेन में पूरा योगदान दिया है और उनकी समस्या के समाधान के संघ हमेशा उनके साथ है और भविष्य में उनकी मांगों को सरकार के समक्ष रखा जाएगी।

सीएमओ कुल्लू डॉक्टर सुशील चंद्र ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग में आशा वर्कर रीढ़ हैं और आज पूरी ईमानदारी के साथ अपने कार्य को निभा रही हैं। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के कई अभियान के कार्यक्रम गांव-गांव में जागरूक कर रही हैं और गर्भवती महिलाओं स्वास्थ्य का ध्यान रखती हैं। शिशु और मां की मृत्यु दर को रोकने के लिए सरकारी योजना को सुचारू रूप से चला रही हैं। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग में आशा वर्करों का अहम योगदान है। उन्होंने कहा कि तीन साल पूरा होने पर सम्मेलन कर रही है, जिससे सभी आशा वर्कर को बधाई हो।

Advertisements

- Advertisement -

%d bloggers like this: