Advertisements

ATM बदल Railway के Retire कर्मी को लगाया डेढ़ लाख का चूना, एक अन्य मामले में 36 हजार ठगे

चार लोगों की उम्र भर की कमाई पर ठगों ने किया हाथ साफ

0

- Advertisement -

ओम प्रकाश चौहान/ जोगिंद्रनगर। एटीएम बदलकर व कोड आदि जानकर ठगी के मामले निरंतर सामने आ रहे हैं। जोगिंद्रनगर में ही ऐसे चार मामले सामने आ चुके हैं। इन चार लोगों को किसी गिरोह ने ठगा है और कईयों की उम्रभर की कमाई पर हाथ साफ कर दिया है। रेलवे विभाग से रिटायर कुलदीप चंद सूद का एटीएम बदलकर डेढ़ लाख रुपये का चूना लगाया गया है। मिली जानकारी के अनुसार शनिवार को उन्होंने अपने पौत्र को एटीएम से कुछ राशि निकालने के लिए भेजा।

जब पौत्र सेंट्रल बैंक की जोगिंद्रनगर ब्रांच में गया तो पीछे से तीन युवक भीतर आए तथा एटीएम में कैश न होने की बातों में युवक को इस तरह उलझा दिया कि पता ही नहीं चला कि कब उसका एटीएम ही बदल लिया गया। क्योंकि रविवार अवकाश का दिन था तो कुलदीप सूद ने भी मोबाइल में मैसेज आदि नहीं देखे और जब सोमवार की सुबह मैसेज देखा तो उनके खाते से डेढ़ लाख रुपये की रकम निकलवा ली गई थी।

तीन युवक बैंक के सीसीटीवी में हुए कैद

कहा गया है कि कुलदीप सूद के पौत्र को उलझाने वाले तीनों युवकों की करतूत बैंक के सीसीटीवी में कैद हो चुकी है और अगर पुलिस ने साइबर क्राइम सैल की गहनता से मदद ली तो गिरोह के गिरेबां तक पहुंचने में देर नहीं लगेगी और ऐसे अनेकों मामले सामने आ सकते हैं तथा कईयों को राहत मिल सकती है। शनिवार को ही करीब पंचायत भराड़ू के पेटू गांव निवासी हेम सिंह भी इसी तरह की वारदात का शिकार हो गए तथा उसी समय के दौरान हेम सिंह का भी एटीएम बदला तथा खाते से 36 हजार रुपये निकल गए। एक और मामले में टोबड़ी गांव निवासी किनौरा राम के बैंक खाते से भी 30 हजार रुपये की राशि एटीएम से निकाले जाने की तहकीकात भी जोगिंद्रनगर पुलिस कर रही है।

शानन प्रोजेक्ट के फिटर को भी लगाया चूना

बात यहीं खत्म नहीं होती, शानन प्रोजेक्ट में फिटर के तौर पर तैनात दुनी चंद की तो मानों उम्र भर की कमाई ही ऐसी ठगी में लूट गई। दुनी चंद के बैंक खाते से करीब तीन लाख रुपये की राशि निकलवाई गई। दुनी चंद ने बताया कि अकसर वह अपने पहचाने वालों के जरिए एटीएम से राशि निकलवाता रहा है। पिछले हफ्ते जब उसने एक परिचित से एक हजार रुपये निकलवा तो उसने दुनी चंद को बताया कि अब उसके खाते में करीब 26 हजार रुपये की शेष हैं। ऐसा सुनते ही दुनी चंद के होश फाख्ता हो गए, क्योंकि उसके खाते में करीब सवा तीन लाख रुपये का बकाया था जो उसके अपना जीपीएफ निकलवाकर मकान की मरम्मत के लिए रखा था। उम्रभर की कमाई लूटाकर दुनी चंद ने पुलिस से न्याय की मांग की है। मिली जानकारी के अनुसार दुनी चंद के खाते से एक-दो फर्मों के नाम पर खाते से लेन-देन हुआ पाया गया।

पुलिस इस मामले में भी बारीकी से जांच करे तो एटीएम से ठगी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ हो सकता है। जोगिंद्रनगर के थाना प्रभारी इंस्पेक्टर संजीव कुमार ने कहा कि एटीएम बदलने व ठगी होने के मामले की रिपोर्ट पुलिस में दर्ज की गईं है, जिन पर पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है और जल्दी ही ऐसे गिरोह तक पहुंचा जाएगा। संजीव कुमार ने आम जनता का आह्वान किया है कि वह एटीएम का प्रयोग करते समय पूरी तरह सजग रहें और किसी दूसरे के सामने उसका पिन आदि न भरें या किसी अन्य को एटीएम न सौंपें। कोशिश करें कि बैंक या एटीएम के आसपास कोई संदिग्ध दिखे तो तत्काल हरकत में आएं।

Advertisements

- Advertisement -

%d bloggers like this: