Advertisements

BJP में घमासान : कसुम्पटी हलके में Ticket के लिए हो रहा कड़ा संघर्ष

- Advertisement -

खेमों में बंटी पार्टी, प्रेम ठाकुर-पृथ्वी विक्रम जता रहे दावेदारी

शिमला। शहर के साथ सटे कसुम्पटी हलके में बीजेपी में टिकटों को लेकर घमासान मचा हुआ है। टिकट के चक्कर में यहां पर बीजेपी भी खेमों में बंटी हुई है। एक तरफ यहां जहां स्थानीय को ही टिकट देने की वकालत हो रही है, वहीं स्थानीयों में भी गुटबाजी हावी है। इसके चलते यहां बीजेपी में प्रत्याशी के चयन को लेकर काफी माथापच्ची होने वाली है। यहां एक तरफ जहां पिछली बार बीजेपी से चुनाव में उतरे प्रेम ठाकुर एक सशक्त दावेदार हैं, वहीं, कांग्रेस से बीजेपी में गए सीएम वीरभद्र सिंह के साले पृथ्वी विक्रम सेन टिकट के लिए ताल ठोके हुए हैं।

दूसरे हलके से प्रत्याशी थोपने की भी है चर्चा

वैसे तो टिकट के लिए इन दोनों के बीच ही ज्यादा संघर्ष नजर आ रहा है, लेकिन कई और नेता भी हैं जो इस सीट से टिकट के लिए अपनी-अपनी जुगत भिड़ा रहे हैं। इनमें महिला नेत्री रूपा शर्मा के अलावा युवा नेता विक्रम बांश्टू, वीडी शर्मा, कुसुम ठाकुर समेत कई अन्य शामिल हैं। वहीं, एक चर्चा यह भी चल रही है कि कहीं किसी दूसरे हलके से यहां पर प्रत्याशी न थोप दिया जाए। कसुम्पटी हलके में बीजेपी कैडर में यह चर्चा भी गर्म है। यदि ऐसा होता है तो इस हलके में बीजेपी में घमासान काफी बढ़ेगा और इससे पार्टी खुद को सुखद स्थिति में नहीं पाएगी। क्योंकि उनका तर्क है कि एक हलके के समीकरण सही करने के चक्कर में दूसरे हलके के समीकरण को बिगाड़ना बिलकुल भी सही नहीं है और इसका नुकसान दोनों हलकों में होगा। इस हलके में बीजेपी को जीत की दरकार है और पिछली बार बीजेपी से ही कांग्रेस का यहां मुकाबला रहा है। इस बार बीजेपी को लगता है कि वह यहां पर जीत दर्ज कर सकती है। इसलिए यहां पर टिकट के लिए मारामारी है।

वैसे मौजूदा दौर में प्रेम ठाकुर और पृथ्वी विक्रम सेन में ही टिकट को लेकर संघर्ष माना जा रहा है। इनके बीच में यहां पार्टी भी बंटी हुई है। कसुम्पटी मंडल का एक खेमा जहां खुलकर प्रेम ठाकुर का समर्थन कर रहा है, वहीं दूसरा खेमा पृथ्वी विक्रम सेन के साथ खड़ा है। हाल में हुए नगर निगम चुनाव से यहां पर गुटबाजी मुखर हुई है। उस वक्त यहां पर टिकट को लेकर कुछ वार्डों में खासी खींचतान रही थी और इसकी चपेट में मंडल भी आ गया था और अब इसमें खाई बढ़ रही है। कई नेता उस चुनाव का बदला इस चुनाव में चुकाने को तैयार बैठे हैं। ऐसे में अब इस हलके में टिकट की लड़ाई के साथ-साथ आगे भी रोचक मुकाबला रहने वाला है।

Advertisements

- Advertisement -

%d bloggers like this: