- Advertisement -

सावधान! कहीं आपको ब्रेस्ट कैंसर तो नहीं 

Breast cancer needs to be careful

0

- Advertisement -

जो महिलाएं अपने व्यस्त शेड्यूल के चलते स्वास्थ्य की ओर ध्यान नहीं दे पाती है उनको सावधान रहने की जरूरत है। क्योंकि आपकी भागमभाग व स्वास्थ्य की ओर पर्याप्त ध्यान न देना किसी बड़े खतरे का संकेत तो नहीं। दरअसल कामकाजी महिलाओं की व्यस्त जीवन शैली, काम का भारी दबाव और हर वक्त का तनाव उन्हें इतनी भी फुर्सत नहीं देते कि वे अपने स्वास्थ्य पर ध्यान दे सकें। जबकि इसी लापरवाही के चलते वे एक गंभीर बीमारी की ओर अग्रसर होती हैं। इस अनियमित जीवन शैली की वजह से जो बीमारी तेजी से सिर उठा रही है वह ब्रेस्ट कैंसर है। तय मानिए कि अगर आप इस लाइफ स्टाइल की आदी हो चुकी हैं तो आपको यह बीमारी हो सकती है। दिवा (सेंटर फॉर ब्रेस्ट कैंसर) की डॉयरेक्टर मेहर पटेल ने ब्रेस्ट कैंसर के प्रति जागरूकता के लिए कैंपेन आयोजित किया । उनका कहना है कि कुछ खास कारणों से ब्रेस्ट कैंसर होता है।
Breast cancer
  • अगर आप शारीरिक मेहनत नहीं करतीं तो वजन बढ़ता है। यह एस्ट्रोजन और इंसुलिन ज्यादा बनाता है जो ब्रेस्ट कैंसर को बढ़ावा देते हैं। जरूरी है कि आप खुद को हर स्तर पर फिजिकली फिट रखें । शरीर से निकलने वाला पसीना शरीर की काफी विषाक्तता को निकाल देता है।
  • अल्कोहल और धूम्रपान आज की जीवनशैली में शामिल है, बल्कि यों कहें कि इसे तनाव मुक्त होने का जरिया माना जाता है। इसकी जितनी ही अधिकता होगी, ब्रेस्ट कैंसर के उतने ही चांसेज होंगे।

  • रात की पाली में काम करने वाली 300 महिलाओं पर किए गए सर्वे में यह बात सामने आई है कि जो लगातार 30 साल से लेट नाइट काम कर रही थीं उनमें  दूसरों के मुकाबले  कैंसर होने के दोगुना चांसेज थे।
  • हार्मेन रिप्लेसमेंट और कंट्रासेप्टिव पिल्स लेने से भी ब्रेस्ट कैंसर होता है।
  • वजन बढ़ना भी इसके मुख्य कारणों में है। इसलिए जहां तक हो सके  बाहर का खाना और जंक फूड खाने से परहेज करें। लगातार जंकफूड लेते रहने से मेनोपॉज के बाद ब्रेस्ट कैंसर के चांसेज होते हैं।
  • परफ्यूम और डियो का इस्तेमाल करने से भी यह खतरा होता है।
  • जरूरी है कि आप एक नियमित जीवन शैली अपनाकर चलें, फिजिकली खुद को फिट रखें और जंकफूड से परहेज करें।

- Advertisement -

%d bloggers like this: