Advertisements

जयूणी खड्ड पर 10 साल पहले बने दो पुलों पर रेलिंग लगाना भूल गया विभाग

bridge railing problem at gohar mandi

0

- Advertisement -

गोहर। विकास की लौ से अभी भी कई इलाके अभी भी अछूते हैं। उपमंडल गोहर की बात करें तो यहां पर जयूणी खड्ड पर दो स्थानों पर पुल तो दस साल पहले बनाए गए थे पर इनके दोनों साइड में रैलिंग अभी तक नहीं लग पाई। इन पुलों से ग्रामीण व स्कूली छात्र रोज आते- जाते हैं लिहाजा खतरा हमेशा बना रहता है। ये दोनों पुल गांव सड़ान व गुलाड़ में बने हुएहैं। बासा पंचायत के जयूणी खड्ड पर बने दोनों पुलों पर पिछले 10 साल से न तो पंचायत और न ही विभाग इन पर रेलिंग लगाने की जहमत उठा पाया है।ग्रामीणों का कहना है कि उन्होंने बासा पंचायत की प्रधान से इस बारे में बात की थी लेकिन अभी तक कोई भी कार्रवाई नहीं हो पाई है। दोनों पुलों की ऊंचाई खड्ड से लगभग 40 फीट है। लिहाजा यहां पर रेलिंग लगनी बहुत जरूरी है। उनके बच्चे पुल को पार के आते-जाते हैं, उन्हें इस बात का डर लगा रहता है कि कहीं कोई अनहोनी न हो जाए।

क्षेत्र के ग्रामीणों में तारा चंद, लालमन, टेक चंद, सोम दत्त ,फागनु राम, देव, राम सिंह, इन्द्र सिंह, कृष्ण, गोपाल, डूम राम, भीमा राम, राज कुमार, उमा देवी, पिंकी देवी, लता, गंगी देवी आदि ने बताया कि उनकी इस मांग को पंचायत जल्द पूरा करें। इस बारे में जब बासा पंचायत की प्रधान कमला शर्मा से बात की गई तो उन्होंने माना कि बासा पंचायत में एक नहीं दो पुल ऐसे हैं जिनमें रैलिंग नहीं है। वहां पर जान-माल का ख़तरा बना रहता है लेकिन इस कार्य के लिए पैसा स्वीकृत हो गया है। दोनों पुलों की रेलिंग के लिए 1,00,000 राशि पंचायत के पास आ गई है और जल्द ही कार्य भी शुरू किया जायेगा।

Advertisements

- Advertisement -

%d bloggers like this: