ब्रॉकली : शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाती है ये

0
यूं तो ब्रॉकली देखने में फूलगोभी जैसी होती है लेकिन रंग में अंतर होता है। ब्रॉकली साधारण गोभी से काफी महंगी मिलती है। बड़े महानगरों, होटलों में इनकी काफी मांग है। वैसे तो यह मुख्यतः इटली का पौधा है और कई यूरोपीय डिश और सलाद बनाने में प्रयोग की जाती है। ब्रॉकली अन्य सब्जियों की तुलना में ज्यादा पौष्टिक और स्वास्थ्यवर्धक सब्जी है। यह खाने में बहुत ही स्वादिष्ट होती है। इसे आप सलाद व सब्जी के रूप में भी खा सकते हैं। यही नहीं इसका सूप भी सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद है। ब्रॉकली में अधिक मात्रा में क्रोमियम ए, विटामिन ए, विटामिन सी  तथा प्रोटीन के अलावा लोह तत्व भी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। यही नहीं इस हरी सब्जी में एंटीऑक्सीडेंट और फाइटोकेमिकल्स भी होते हैं। यह शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती है।
  • नियमित रूप से यदि  इसका सेवन किया जाए तो इससे दिल से संबंधित बीमारियां नहीं होतीं । ब्रॉकली में मौजूद गुण दिल की धमनियों को मोटा नहीं होने देता और खून को गाढ़ा होने से भी रोकता है। जिससे हार्ट अटैक का जोखिम कम हो जाता है।
  • ब्रॉकली में कैंसर रोधी गुण होते हैं। हाल ही में वैज्ञानिकों ने ब्रॉकली के उपर किए शोध के आधार पर बताया है कि इस सब्जी में गले और सिर के कैंसर को बढ़ने से रोकने की क्षमता है। यह बढ़ते हुए कैंसर के सेल्स को रोक देता है।

  • यदि आपका ब्लड प्रेशर नियंत्रण में नहीं रहता हो तो ब्रॉकली का सेवन करें। यह शरीर में कोलेस्ट्रॉल के लेवल को बढ़ने नहीं देता है जिससे बीपी नियंत्रण में रहता है।
  • आपको या आपके परिवार में किसी को एल्जाइमर की समस्या हो, तो खाने में ब्रॉकली को शामिल कर लें।

  • सूर्य की किरणों से निकलने वाली यूवी रेडियेशन से शरीर के अंग प्रभावित होते हैं। ऐसे में ब्रॉकली को सलाद के रूप में खाएं। आपको यूवी रेडियेशन के प्रभाव से मुक्ति मिल जाएगी।
  • ब्रॉकली इंसुलिन को बढ़ने से रोकती है इसलिए इसमें मौजूद गुण डायबिटीज की समस्या को बढ़ने नहीं देते हैं।गठिया की समस्या से परेशान लोगों को ब्रोकली का सेवन करना चाहिए। ब्रॉकली में मौजूद गुण हड्डियों को मजबूत बनाते हैं। इसका सेवन करने से गठिया के दर्द से निजात मिलता है।

You might also like More from author

Leave A Reply