Advertisements

CBI ने पूर्व एसपी DW Negi के खिलाफ दायर की 15 पेज की Supplementary Chargesheet

- Advertisement -

शिमला। प्रदेश के बहुचर्चित गुड़िया रेप और मर्डर के एक आरोपी सूरज की पुलिस लॉकअप में हुई हत्या के मामले में गिरफ्तार किए गए शिमला के पूर्व एसपी डीडब्ल्यू नेगी के खिलाफ सीबीआई ने सीबीआई कोर्ट में अनुपूरक चालान पेश कर दिया है। सीबीआई की ओर से कोर्ट में 15 पेज का अनुपूरक आरोप पत्र पेश किया गया है। मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी शिमला रणजीत सिंह की अदालत में नेगी के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया गया। सीबीआई ने पूर्व एसपी नेगी के खिलाफ आईपीसी की धारा 302, 201 और 120 बी के तहत मामला दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार किया है।

बताते हैं कि 15 पेज के इस अनुपूरक आरोपपत्र में सूरज की हत्या मामले में पूर्व एसपी नेगी की संलिप्तता का जिक्र है और इससे जुड़े सबूतों और साक्ष्यों को रखा है। गुड़िया रेप और हत्या मामले में प्रदेश पुलिस की एसआईटी ने सूरज समेत छह लोग आरोपी बनाए थे। इनमें से सूरज की पिछले वर्ष 18 जुलाई को कोटखाई थाने के लॉकअप में मौत हुई थी।

उस समय डीडब्लयू नेगी शिमला के एसपी थे। हालांकि वे एसआईटी के सदस्य नहीं थे। सीबीआई को मामला जाने के बाद पहले एसआईटी के मुखिया आईजी जहूर जैदी समेत आठ पुलिस कर्मी सूरज मामले में गिरफ्तार किए गए और 16 नवंबर को पूर्व एसपी नेगी को सीबीआई ने गिरफ्तार किया। सूरज मामले में गिरफ्तार किए गए सभी नौ आरोपी न्यायिक हिरासत में चल रहे हैं।

सीबीआई जैदी समेत अन्य आठों के खिलाफ पहले ही करीब 600 पेज का आरोप पत्र कोर्ट में दे चुकी है। अब सीबीआई ने नेगी के खिलाफ अनुपूरक आरोप पत्र दिया है। सीबीआई जांच में सामने आया है कि पुलिस लॉकअप में हुई सूरज की मौत को लेकर उक्त आरोपी पुलिस वालों ने आपसी मिलीभगत से फर्जी केस बनाया। इसके तहत गुडिय़ा रेप और मर्डर केस में पकड़े गए राजू को सूरज की मौत का दोषी ठहराया था, लेकिन सीबीआई जांच में यह बात कुछ और निकली।

Advertisements

- Advertisement -

%d bloggers like this: