प्रद्युम्न मर्डर केसः हत्या का आरोपी छात्र Juvenile Justice Board में पेश

0

नई दिल्‍ली। प्रद्युम्‍न मर्डर केस में 11वीं के हत्‍यारोपी छात्र को सीबीआई ने जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड में पेश किया। सीबीआई के मुताबिक आरोपी की आयु 16 साल से ज्‍यादा है, इसलिए उसे जुवेनाइल बोर्ड में पेश किया गया। अब कोर्ट यह तय करेगा कि उसके ऊपर मुकदमा नाबालिग या बालिग में से आखिर किस श्रेणी में चलाया जाए।

  • कोर्ट तय करेगा मुकदमा बालिग या नाबालिग किस श्रेणी में चलेगा

इससे पहले सीबीआई ने गुरुग्राम के रायन इंटरनेशनल स्‍कूल के प्रद्युम्‍न मर्डर केस में चौंकाने वाला खुलासा करते हुए कहा है कि सात वर्षीय छात्र का मर्डर 11वीं में पढ़ने वाले स्‍टूडेंट ने किया। इसके साथ ही सीबीआई ने स्‍पष्‍ट किया है कि इससे पहले पकड़े गए बस कंडक्‍टर अशोक कुमार के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिले हैं। अशोक के परिजनों ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि उनको सीबीआई की जांच पर भरोसा है।

परीक्षा-पीटीएम को आगे खिसकाने के लिए किया मर्डर

सीबीआई सूत्रों के मुताबिक इस छात्र ने परीक्षा रद्द कराने के लिए मर्डर किया। यह छात्र अभिभावक-छात्र मीटिंग (PTM) की तारीख भी आगे बढ़वाना चाहता था। यह छात्र चाकू लेकर उस दिन स्‍कूल गया था। प्रद्युम्‍न की हत्‍या के बाद आरोपी ने चाकू को फ्लश कर दिया था। सीबीआई के मुताबिक यह हत्‍या पूर्व नियोजित नहीं थी लेकिन यह छात्र कुछ ऐसा करना चाहता था, ताकि परीक्षा की तारीखें आगे खिसक जाएं। छात्र ने कहा भी था कि कुछ ऐसा करूंगा कि परीक्षा ही नहीं होगी, इसीलिए प्रद्युम्‍न जैसे ही टॉयलेट में दिखा, उसकी हत्‍या कर दी गई। इसके साथ ही सीबीआई ने यह भी स्‍पष्‍ट कर दिया है कि यह मर्डर केस यौन शोषण से जुड़ा मामला नहीं है। सीबीआई ने छात्र से कबूलनामे पर हस्‍ताक्षर भी करवाए हैं। इसके साथ ही सीबीआई ने यह भी स्‍पष्‍ट किया है कि आरोपी कंडक्‍टर के खिलाफ सबूत नहीं मिले हैं।

You might also like More from author

Leave A Reply