Advertisements

चीन ने अपने यहां तिब्बतियों पर ‘साका दावा’ पर्व में भाग लेने पर लगाई रोक

China bans tibetan community to participate in holy saka dawa festival

- Advertisement -

मैक्लोडगंज। चीन अधिकृत तिब्बत में लोगों, विशेषरूप से स्कूली बच्चों पर पवित्र ‘साका दावा’ पर्व में भाग लेने पर रोक लगा दी गई है। चीनी प्रशासन के जारी किए एक दस्तावेज से यह बात पता चली है। लीक हुए इस दस्तावेज में तिब्बतियों को माह भर चलने वाले इस पवित्र पर्व में भाग लेने से रोकने के लिए और भी कई प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किए गए हैं।

”साका दावा” पर्व बुधवार से शुरू हुआ है। एक माह तक चलने वाले इस पर्व में बरकत बांटी जाती है। तिब्बती इस महीने को साल का सबसे पवित्र माह मानते हैं। लेकिन चीनी अधिकारियों ने तिब्बतियों पर न सिर्फ इस पर्व को मनाने, बल्कि बौद्ध धर्म से जुड़ी धार्मिक गतिविधियों को संपन्न करने पर भी रोक लगाई है। तिब्बत के स्वायत्तशासी क्षेत्र में शैक्षणिक मामलों की समिति और म्युनिसिपल पीपुल्स गवर्नमेंट ने अपने आदेश में कहा है कि तिब्बती परिवार अपने बच्चों को बौद्ध मठों में लेकर न जाएं और न ही किसी धार्मिक गतिविधि में भाग लें। आदेश में यह भी कहा गया है कि चीनी अफसर लोगों की हर हरकत पर करीबी से नजर रखेंगे और आदेश का उल्लंघन करने पर कार्रवाई की जाएगी।

इस तरह की सूचना स्कूलों में भी लगाई गई है। इससे पहले चीन ने अपने यहां के मुस्लिम बहुल राज्य शिनजियांग के स्वायत्त क्षेत्र में भी रमजान के पवित्र माह के मौके पर इसी तरह का आदेश जारी किया था, जिसमें मुस्लिमों को रोजा रखने पर पाबंदी लगा दी गई थी। हालांकि, चीन ने ऐसे कदम का यह कहते हुए बचाव किया है कि ऐसा शिक्षा और धार्मिक गतिविधियों को अलग रखने के लिए किया गया है, लेकिन धार्मिक और जातीय अल्पसंख्यक इसे अपनी धार्मिक स्वतंत्रता के अधिकार का हनन मानकर आदेश की आलोचना कर रहे हैं।

Advertisements

- Advertisement -

%d bloggers like this: