Advertisements

देश की पहली Water ATM Policy मंजूर, मिलेगा स्वच्छ पेयजल

शहरों में लगेंगे Water ATM, सीएम ने मंजूर की Policy

- Advertisement -

चंडीगढ़। प्रदेश में जगह-जगह पर आम आदमी को स्वच्छ पेयजल सुलभ हो, इसके लिए देश की पहली Water ATM Policy तैयार करने वाला राज्य Haryana बन गया है। शहरी स्थानीय निकाय मंत्री कविता जैन के प्रस्ताव को सीएम मनोहर लाल ने मंजूरी प्रदान कर दी है। इसकी अधिसूचना जारी होने के तुरंत बाद ही पालिकाएं अपने दायरे में सार्वजनिक स्थल तथा अन्य भीड़भाड़ भरे स्थानों को चिन्हित करके Water ATM लगाने की प्रक्रिया शुरू करेंगी। इसके लिए पालिकाएं अपने स्तर तथा सार्वजनिक भागीदारी के साथ मिलकर इनका संचालन सुनिश्चित करेंगी।

पालिकाएं अपने दायरे में Water ATM के लिए स्थान करेंगी चिन्हित

शहरी स्थानीय निकाय मंत्री कविता जैन ने बताया कि शहरी स्थानीय निकाय क्षेत्रों में प्रदेश सरकार द्वारा Water ATM स्थापित करने की नीति तैयार की गई थी, जिसे सीएम मनोहर लाल ने मंजूरी प्रदान कर दी है। उन्होंने बताया कि देश के विभिन्न हिस्सों में Water ATM स्थापित करने उनका संचालन किया जा रहा है, लेकिन Haryana इस पर नीति तैयार करने वाला पहला राज्य है। कविता जैन ने कहा कि देश में पानी वास्तविक, सीमित तथा अति महत्वपूर्ण संसाधन है, इसे आम आदमी तक मुहैया कराने के लिए प्रदेश सरकार पालिकाओं, जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभागए हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के सांमजस्य से काम कर रहा है।

पानी की सीमित उपलब्धता के बेहतर उपयोग तथा प्रत्येक व्यक्ति को स्वच्छ पेयजल मिले, इसके लिए Haryana Government ने वाटर एटीएम पालिसी तैयार की है। इस पालिसी के तहत शहरी क्षेत्रों में बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, सार्वजनिक स्थल, पार्क, बस स्टापेज, पार्किंग क्षेत्र, भीड़भाड़ भरे स्थानों, बाजार, मार्किट में वाटर एटीएम स्थापित करने के लिए स्थान चिन्हित किए जाएंगे। पालिका प्रशासन तीन तरीके से Water ATM स्थापित कराएंगे, इसमें स्वयं पालिका द्वारा स्थापित करके संचालित करनेए स्वयं बनाकर संचालन के लिए एजेंसी को देना तथा कारपोरेट सामाजिक जिम्मेदार के संचालन में से एक विकल्प रहेगा। उन्होंने कहा कि एक Water ATM से दूसरे वाटर एटीम के बीच में 400 मीटर की दूरी होगी, जिसे आमजन की सहूलियत के मुताबिक फेरबदल की संभावना भी रहेगी।

Advertisements

- Advertisement -

%d bloggers like this: