- Advertisement -

घड़ी की दिशा का रखें ध्यान, नहीं तो उठाना पड़ेगा नुकसान

0

- Advertisement -

जीवन में बहुत ही अहम होती है घड़ी। घड़ी आपके बुरे समय को अच्छे समय में बदल सकती है लेकिन इसके लिए आपको घर या कार्यस्थल में घड़ी को वास्तु के अनुसार रखना होगा। वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में घड़ी को दक्षिण की तरफ नहीं लगानी चाहिए। इस दिशा को ठहराव माना जाता है। इस दिशा में घड़ी होने से घर के मुखिया की सेहत पर बुरा असर पड़ता है। दरवाजे के उपर भी कभी घड़ी नहीं टांगनी चाहिए। वास्तु के अनुसार दरवाजे पर लगी घड़ी तनाव को बढ़ाती है और घर पर आने-जाने वाले लोगों पर इसका नकारात्मक उर्जा का प्रभाव पड़ता है। यही नहीं ऐसा करने से पैसों का नुकसान भी होता है।

  • घड़ी को हमेशा पूर्व दिशा की तरफ लगाना चाहिए। इससे घर पर धन की कृपा बनती है और घर का माहौल शुभ बनता है। यदि आप घर में घड़ी को पश्चिम दिशा में लगाते हैं तो इससे घर के लोगों के विचार सकारात्मक होते हैं और नए अवसर उन्हें प्राप्त होते हैं।
  • घड़ियां भी कई तरह की होती हैं। वास्तु के अनुसार पेंडुलम वाली घड़ी सबसे अधिक शुभ होती है। इस घड़ी को लगाने से इंसान के तरक्की होती है। पेंडुलम वाली घड़ी को उत्तर, पूर्व या पश्चिम वाली दिशा में लगाना चाहिए।

  • घर जितनी भी पुरानी या बंद पड़ी घड़ियों हों उन्हें घर से बाहर निकाल दें। वास्तु शास्त्र के अनुसार इस प्रकार की घड़ियां इंसान के विचारों और स्वभाव में नकारात्मकता लाती है।
  • यही नहीं घड़ियों की साफ-सफाई भी समय-समय पर जरूर करें।
  • घड़ी का रंग भी बहुत महत्वपूर्ण होती हैं। घर या ऑफिस में गाढ़े नीले रंग, काले रंग और केसर रंग की घड़ियों को नहीं लगाना चाहिए। इस तरह के रंग नकारात्मक ऊर्जा फैलाते हैं

  • वास्तु के अनुसार घड़ी हमेशा गोलाकार और चौकोर आकार की घड़ी लगाने चाहिए। इससे प्रेम और शांति आती है।
  • घड़ी का समय सटीक होना चाहिए। समय से आगे या पीछे चलने वाली घड़ियां शुभ नहीं मानी जाती हैं। इससे इंसान को कई तरह के नुकसान हो सकते हैं। इसलिए समय को सटीक ही रखें।
  • घड़ी को कभी भी अपने तकिए के नीचे रखकर न सोएं। वास्तु के अनुसार यह गलत होता है। इंसान की सेहत और ऊर्जा पर इसका गलत असर पड़ता है।

- Advertisement -

Leave A Reply