- Advertisement -

Mukesh का अंदाज, शोहरत की बुलंदी भी एक तमाशा है, जिस शाख पर बैठे हैं वो टूट भी सकती है

विधानसभा में वर्ष 2018.19 के  Budget पर सामान्य चर्चा 

0

- Advertisement -

लेखराज धरटा/ शिमला। प्रदेश विधानसभा में आज वर्ष 2018-19 के बजट पर सामान्य चर्चा शुरू हुई। चर्चा में भाग लेते हुए   Congress Legislature Party leader Mukesh Agnihotri ने अपनी बात कुछ इस तरह रखी,शोहरत की बुलंदी भी एक तमाशा है, जिस शाख पर बैठे हैं वो टूट भी सकती है। Agnihotri ने सरकार के बजट में रिसोर्स मोबलाइजेशन पर कोई तवज्जो न देने को बात कही। उन्होंने कहा कि CM JaI Ram Thakur ने अपने बजट भाषण में कांग्रेस सरकार पर अधिक ऋणों  लेने आरोप लगाए हैं जबकि सरकार खुद  जनता के बीच  ही जा कर बोल रही है कि दिल्ली से इस संबंध में बेल आउट पैकेज लाया जाएगा। लेकिन अभी तक एक रुपया भी सरकार को नहीं मिल पाया।
नौकरियों को लेकर बड़े-बड़े वादे और दावे किय गए, लेकिन बजट में एक भी नौकरी देने का जिक्र नहीं है । 18 से 35 साल के युवाओं को दुकानें खोलने, व्यापार करने के लिए सीएम युवा रोजगार योजना और स्वावलंबन योजना आदि के ज़रिए सरकार ने युवाओं को निजी कंपनियों के भरोसे छोड़ दिया है । मुकेश ने कहा कि जय राम सरकार के बजट में बेरोजगारों के लिए शुरू किए बेरोजगारी भत्ते को बंद कर युवाओं से धोखा किया है। भू अधिनियम की धारा 118 में संशोधन को लेकर बजट में सुझाए गए तरीकों पर भी विपक्ष ने सत्ता पक्ष पर आरोप लगाते हुए कहा कि विपक्ष ऐसा होने नहीं देंगा। चर्चा में भाग लेते हुए बीजेपी विधायक राकेश पठानिया ने विपक्ष पर आरोप लगाया कि पूर्व सरकार पर प्रदेश को आर्थिकी को इस मुकाम पर लाकर खड़ा कर दिया कि प्रदेश ऋण के बोझ तले दब गया। पठानिया ने पूर्व सरकार पर योजनाओं की डीपीआर नहीं बनाए जाने के आरोप लगाए।

- Advertisement -

%d bloggers like this: