- Advertisement -

Janjehli में CM की शवयात्रा निकालने की निंदा, छात्रों को भड़काने का भी आरोप, मांगी कार्रवाई

प्रतिनिधि बोले, जंजैहली के कुछ लेाग एसडीएम ऑफिस की आग में सेंख रहे राजनीतिक रोटियां

0

- Advertisement -

संजीव कुमार/गोहर। सराज बीजेपी और पंचायत प्रतिनिधियों ने जंजैहली में सीएम जयराम ठाकुर की शवयात्रा निकाले जाने की कड़े शब्दों में निंदा की है। बीजेपी और पंचायत प्रतिनिधियों ने कहा कि कुछ लीडर स्कूल के छात्रों को भड़का रहे हैं। कह रहे हैं कि स्कूल न जाएं और स्कूल के बाहर प्रदर्शन करें। ऐसे लोगों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए।

पूर्व जिला परिषद पिताबंर लाल, सराज बीजेपी मंडल अध्यक्ष शेर सिंह, महामंत्री भागीरथ, उपाध्य़क्ष जोधवीर सिंह, सचिव चंदा ठाकुर, युवा मोर्चा अध्यक्ष देवेन्द्र राणा, जिला परिशद सदस्य बहावा किशोर कुमार, प्रवक्ता कमल राणा, केसर सिंह तुगल, ग्राम पंचायत थुनाग की प्रधान नीलमा कुमारी, बीडीसी सदस्य थुनाग खेम दासी, ग्राम पंचायत पखरैर के प्रधान दिनानाथा, ग्राम पंचायत बहलीधार के प्रधान ओम प्रकाश, ग्राम पंचायत निहरी सुनाह लंबाथाच के प्रधान चमन लाल, बीडीसी सदस्य सुंदर लाल, ग्राम पंचायत शिल्हीबागी की प्रधान ठाकरी देवी, मुराहग पंचायत के प्रधान तजेंद्र ठाकुर, बीडीसी सत्या प्रकाश,  लंबाथाच के प्रधान चमन लाल, श्ररण पंचायत के प्रधान गोकल चंद, उप प्रधान महेंद्र शर्मा, कांढा पंचायत के प्रधान दुर्गा सिंह, उप प्रधान सरेंद्र पाल, ग्राम पंचायत जैंशला के प्रधान कौल सिंह, परम देव, ठाकरी देवी, ग्राम पंचायत भाटकीधार के प्रधान शिवलाल, शिकावरी पंचायत के प्रधान भीखम राम, पूर्व बीडीसी रजनी ठाकुर, पूर्व प्रधान वीर सिंह, चिउणी पंचायत के उप प्रधान धनदेव, शिवाथाणा के उप प्रधान डहल देव, पूर्व व दिवान चंद आदि ने कहा कि जंजैहली में सीएम की शवयात्रा निकाली गई। वह एक अशोभनीय घटना है और कुछ चंद लोग एसडीएम ऑफिस की आग में अपनी रोटियां सेंख रहे हैं और जंजैहली की भोली-भाली जनता को गुमराह कर रहे हैं।

इन सभी ने कहा कि कुछ लोग इस प्रदर्शन में नौनिहालों का भविष्य भी खराब करने पर तुले हुए हैं, क्योंकि कुथाह में जनसभा को संबोधित करते हुए कुछ लीडरों ने स्कूल के छात्रों से भी आग्रह है कि वे कल स्कूल न जाएं और स्कूल के बाहर प्रदर्शन करें। इन सभी ने कहा  कि इस तरह की बयानबाजी करने वालों पर कड़ी कार्रवाई  होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि छात्रों को इस तरह से बुलाना उनके भविष्य के साथ खिलवाड़ है। हम सरकार से मांग करते हैं कि इस तरह की बयानबाजी करने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाए।

- Advertisement -

Leave A Reply