- Advertisement -

किराया न बढ़ाए सरकार, पेट्रोल और डीजल पर कम करे वैट

नेता विपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने प्रदेश सरकार पर साधा निशाना

0

- Advertisement -

ऊना। केंद्र की असफलता के चलते देश में जहां पेट्रोल और डीजल के दाम बेलगाम होकर लगातार बढ़ रहे हैं, वहीं हिमाचल सरकार के अड़ियल रवैया के कारण प्रदेश को राहत नहीं मिल रही है। प्रदेश सरकार वैट कम कर पेट्रोल व डीजल की कीमत में राहत प्रदान कर सकती है, जिससे किराया बढ़ाने की नौबत भी नहीं आएगी। उन्होंने कहा कि पेट्रोल और डीजल पर वैट से राहत देने के स्थान पर सरकार जनता पर डबल मार मारने के लिए किराया बढ़ाने की बात कर रही है। उन्होंने कहा कि पूर्व की वीरभद्र सरकार के समय जब पेट्रोल व डीजल के दाम बढ़े थे, तब भी कांग्रेस की सरकार ने बस किराए में बढ़ोतरी नहीं की थी, बल्कि जनता को कुछ राहत वैट में राहत देकर की थी।

यह बात नेता विपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों व प्रदेश सरकार द्वारा बसों का किराया बढ़ाने के कदम के बीच अपनी प्रतिक्रिया में कहीं। मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि पेट्रोल व डीजल के दाम आसमान को छू रहे हैं। केंद्र सरकार कोई भी कदम दाम को कम करने के लिए नहीं उठा पाई है, बल्कि पीएम नरेंद्र मोदी कीमतों को कम करने के स्थान पर विदेशी दौरों व राजनीति करने में व्यस्त हैं।

मुकेश ने कहा कि ऐसा लगता है कि पीएम नरेंद्र मोदी के हाथ पेट्रोल व डीजल की कीमतों पर खड़े हो गए हैं। इसलिए लगातार दाम रिकॉर्ड तोड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि लगातार दाम बढ़ने के चलते जहां महंगाई बढ़ रही है, वहीं दूसरी ओर डीजल के दाम में बढ़ोतरी के कारण ट्रक, बस, ऑटो व टैक्सी व्यवसाय से जुड़े लोग भी किराया बढ़ाने की मांग करने लगे हैं।

हिमाचल में तो इसके लिए निजी बसों के चक्के जाम तक हो रहे हैं, जो प्रदेश की बीजेपी सरकार की विफलता व असफलता की कहानी को बयां करता है। नेता विपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कहा की रसोई गैस भी गृहणियों को रुला रही है। उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार के समय जो सिलेंडर 415 में घर पहुंचता था। उसी सिलेंडर की कीमत मोदी सरकार ने 915 के करीब कर दी है और जनता पर महंगाई का बोझ लगातार बढ़ रहा है।

- Advertisement -

%d bloggers like this: