Advertisements

जवाब दे सांसद, हिसाब दे सांसद अभियान का आगाज, Congress नेताओं ने BJP सांसदों पर दागे सवाल

चार जगह कांग्रेस नेताओं ने प्रेसवार्ता कर सांसदों से पूछे सवाल

- Advertisement -

टीम। कांग्रेस के जवाब दे सांसद, हिसाब दे सांसद अभियान का आगाज हो गया है। इस अभियान के आगाज पर आज सीएलपी लीडर मुकेश अग्निहोत्री ने ऊना में, पूर्व मंत्री रामलाल ठाकुर ने बिलासपुर, पूर्व मंत्री धनीराम शांडिल ने नाहन और विधायक इंद्रदत्त लखनपाल ने हमीरपुर में प्रेस कांफ्रेंस कर बीजेपी सासदों से हिसाब मांगा। हिमाचल प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा जवाब दे सांसद, हिसाब दे सांसद अभियान आज से शुरू हो गया है। बीजेपी के सांसदों से कांग्रेस नेता चार साल में किए कामों व जनता के लिए शुरू योजनाओं के साथ केंद्र से लाए पैसों का हिसाब लेंगे। सुक्खू ने कहा कि इसी अभियान में कांग्रेस नेता सांसदों से प्रदेश में उनके द्वारा गोद लिए गए गावों पर भी सवाल करेंगे।

मुकेश बोले, बीजेपी के सांसद बजट में हिमाचल के हितों की पैरवी करने में रहे नाकाम

ऊना। सीएलपी लीडर मुकेश अग्निहोत्री ने प्रदेश के सभी सांसदों पर एक के बाद एक कई सवाल दागे हैं। मुकेश ने कहा कि बीजेपी के सांसद बजट में भी हिमाचल के हितों की पैरवी करने में नाकाम रहे है। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनावों के चलते 63- एनएच का शोर डाला गया, मेरा सवाल ये है कि सांसद बताएं कि इनके लिए कितना बजट और कब की डेडलाइन तय की गई हैं। उन्होंने कहा कि बिलासपुर के सलोह की ट्रिप्पल आईटी का शिलान्यास पीएम ने किया, पर सांसद बताएं कि इसकी ट्रेंडर प्रक्रिया कहां तक पहुंची हैं।

हमीरपुर संसदीय क्षेत्र में विकास के नाम पर सांसद अनुराग ठाकुर जनता को गुमराह कर रहे हैं। यह बात कांग्रेस विधायक एवं पूर्व सीपीएस इंद्र दत्त लखनपाल ने हमीरपुर में प्रेसवार्ता में कही। ‘सांसद हिसाब दे सांसद जवाब दें’ अभियान के तहत कांग्रेस ने हमीरपुर के सांसद से कई सवाल पूछ कर उन्हें घेरने की कोशिश की। लखनपाल ने बताया कि कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू के निर्देश पर पूरे प्रदेश में यह अभियान चला है। उन्होंने सांसद अनुराग ठाकुर सहित अन्य बीजेपी सांसदों से सवाल किया कि प्रदेश के हितों को लेकर आम बजट में अनदेखी क्यों की गई। इसके लिए सशक्त आवाज क्यों नहीं उठाई गई। एमपी फंड से कितना विकास इलाके में किया। एम्स व स्पाइस पार्क को लेकर सांसद संशय को दूर करें।

शिमला संसदीय क्षेत्र से युवाओं का हो रहा जबरदस्त पलायन

नाहन। नाहन में पत्रकार वार्ता के दौरान पूर्व मंत्री व विधायक धनीराम शांडिल ने बीजेपी सांसदों को जमकर घेरा। उन्होंने सवाल करते हुए कहा युवाओं को रोजगार दिलाने के लिए हर वर्ष दो करोड़ नौकरियां पैदा करने के बड़े-बड़े वादों का क्या हुआ? बावजूद इसके शिमला संसदीय क्षेत्र से युवाओं का जबरदस्त पलायन हो रहा है। स्वच्छता के अभियान को लेकर कर्नल शांडिल ने सांसदों से यह भी पूछा कि एक तरफ तो संपूर्ण स्वच्छता का संदेश दिया जा रहा है। लेकिन, पर्यावरण को सुरक्षित करने के लिए क्या-क्या कार्यक्रम चलाए गए हैं। जलवायु में परिवर्तन से सूखे की मार पड़ रही है। इसको लेकर भी उन्होंने सांसद वीरेंद्र कश्यप से जवाब मांगा।

सांसद अपने पिछले साढ़े 12 सालों का हिसाब जनता के सामने रखें

बिलासपुर। जिला कांग्रेस भवन बिलासपुर में सांसद पर प्रहार करते हुए नयना देवी विधायक व प्रदेश कांग्रेस महासचिव रामलाल ठाकुर ने पत्रकार वार्ता में कहा कि सांसद अपने पिछले साढ़े 12 सालों का हिसाब जनता के सामने रखें, वह यह बताए कि उन्होंने कितने महिला मंडलों, युवक मंडलों को पैसा दिया है। इसके अलावा यह भी बताएं कि एसवीएम स्कूलों को सांसद निधी से कितना फंड जारी किया गया है। इसके अलावा उन्होंने कहा कि जो क्रिकेट स्टेडियम के बिलासपुर बनाने की बात वह कह रहे हैं, वह भी कांग्रेस की देन है। इसके निर्माण के लिए सवा करोड़ पहले व 25 लाख इसके पवेलियन के टूटने के बाद खर्च किए गए थे। इसके अलावा सांसद के पिता यह बताए कि क्यों वह यहां बनने वाले सिंथेटिक ट्रैक को यहां से हमीरपुर ले गए थे। वहीं, इस कड़ी में 16 फरवरी को पूर्व मंत्री सुधीर शर्मा और पूर्व सीपीएस राजेश धर्माणी धर्मशाला में प्रेस कांफ्रेंस करेंगे। पूर्व मंत्री ठाकुर कौल सिंह मंडी में, विधायक जगत सिंह नेगी रिकांगपिओ में और पूर्व विधायक अजय महाजन चंबा में प्रेस कांफ्रेंस में सांसदों पर सवाल दागेंगे।

कांग्रेस के सांसदों से मुख्य सवाल

  • बीजेपी के सांसद बजट में हिमाचल के हितों की पैरवी करने में क्यों नाकाम रहे
  • 63 NH पर कितना Budget आया, कब की थी Deadline
  • बिलासपुर के सलोह की ट्रिप्पल आईटी की ट्रेंडर प्रक्रिया कहां तक पहुंची
  • हमीरपुर में एमपी फंड से कितना विकास इलाके में किया, एम्स व स्पाइस पार्क को लेकर सांसद संशय को करें दूर
  • युवाओं को रोजगार दिलाने के लिए हर वर्ष दो करोड़ नौकरियां पैदा करने के बड़े-बड़े वादों का क्या हुआ
  • पर्यावरण को सुरक्षित करने के लिए क्या-क्या कार्यक्रम चलाए गए हैं बताएं सांसद
  • एसवीएम स्कूलों को सांसद निधी से कितना फंड जारी किया गया
Advertisements

- Advertisement -

%d bloggers like this: