दो टूक: कल तक डोर-टू-डोर Garbage Collection व्यवस्था नहीं सुधरी तो MC ऑफिस का घेराव

0

शिमला। राजधानी शिमला में कई इलाकों में डोर टू डोर गारबेज कलेक्शन योजना चरमरा गई है। कई दिनों से शहर में कूड़ा न उठने से लोग परेशान हैं और अब पार्षद तक कूड़ा न उठने से नाराज हैं। इन नाराज पार्षदों ने अब नगर निगम प्रशासन के घेराव की चेतावनी दी है मजेदार बात यह है कि बीजेपी शासित नगर निगम में नाराजगी जाहिर करने वाले भी बीजेपी पार्षद हैं। राजधानी में संजौली, इंजन घर, शनान, पंथाघाटी, विकासनगर, समीट्री समेत कई स्थानों  पर कूड़ा नहीं उठ रहा है। इस कारण लोग रात के अंधेरे में कूड़ा इधर-उधर फैंक रहे हैं। कूड़ा इधर-उधर फैंके जाने से कई जगह कूड़ा बिखरा है और इससे स्वच्छता की पोल भी खुल रही है। शहर में कई स्थानों से कूड़ा न उठने से नाराजा पार्षदों ने अब निगम प्रशासन के घेराव की चेतावनी दी है।

कई वार्डों से काम छोड़कर चले गए हैं सफाई कर्मचारी

बीजेपी पार्षदों ने नगर निगम के आयुक्त जीसी नेगी से मुलाकात की है और कूड़ा न उठने पर अपनी नाराजगी जताई। इंजन घर वार्ड से पार्षद आरती चौहान और बैनमोर वार्ड से पार्षद किमी सूद ने आयुक्त से मिलकर अपना रोष जताया। इन पार्षदों ने आरोप लगाया कि उनके वार्ड में पिछले एक सप्ताह से अधिक समय से डोर-टू-डोर गारबेज कलेक्शन व्यवस्था ठप है। उनका कहना था कि कई बार वे सैनेटरी इंस्पेक्टर से मिल चुके हैं, लेकिन समस्या ज्यों के त्यों है। उन्होंने आयुक्त को एक दिन का समय दिया और कहा कि यदि कल तक डोर-टू-डोर व्यवस्था नहीं सुधरी तो वे लोगों को साथ लेकर निगम कार्यालय के बाहर धरने पर बैठक जाएंगी। बताया जाता है कि शहर में कई वार्डों में सफाई कर्मचारी काम छोड़कर चले गए हैं। इसे व्यवस्था और खराब हुई है। हालांकि नगर निगम नया स्टाफ रखना चाहता है, लेकिन आदर्श आचार संहिता के कारण ऐसा नहीं हो पा रहा है।

यह भी पढ़ें : शिमला में चरमराई सफाई व्यवस्था, घरों से नहीं उठ रहा कूड़ा

You might also like More from author

Leave A Reply