Advertisements

नियमित करने सहित वित्तीय व पदोन्नति लाभ न दिए जाने पर बिफरे Science Teacher

देश विज्ञान अध्यापक संघ ने सुंदरनगर में बैठक कर जताया विरोध

- Advertisement -

नितेश सैनी/सुंदरनगर। प्रदेश में तीन हजार के करीब विज्ञान अध्यापकों को नियुक्ति की तिथि से नियमित करने समेत अन्य वित्तीय व पदोन्नति लाभ नहीं दिया जा रहे हैं। इस बात के विरोध में हिमाचल प्रदेश विज्ञान अध्यापक संघ पूरी तरह से बिखर गया है। इस संदर्भ में संघ ने सुंदरनगर में एक बैठक का आयोजन किया, जिसकी अध्यक्षता अध्यक्ष नरेंद्र ठाकुर ने की। इस अवसर पर विज्ञान शिक्षकों को पेश आ रही विभिन्न समस्याओं और मुद्दों पर विस्तार पूर्वक चर्चा की गई और सरकार से शीघ्र अतिशीघ्र इन पर अमल करने की मांग की। नरेंद्र ठाकुर ने कहा कि वर्ष 2008 में अनुबंध पर नियुक्त किए गए विज्ञान शिक्षकों को पुराने भर्ती एवं पदोन्नति नियम के तहत नियुक्त किया हैं।

सरकार इन्हें नियुक्ति की तिथि से नियमित करें। क्योंकि नए भर्ती एवं पदोन्नति नियम पॉलिसी 22 अक्टूबर 2009 को अधिकारिक तौर पर स्वीकृत हुई है, लेकिन 2008 में नियुक्त किए गए शिक्षकों के साथ वर्तमान में सौतेला व्यवहार किया जा रहा है, जिसे विज्ञान अध्यापक संघ किसी भी सूरत में सहन नहीं करेगा। उन्होंने कहा है कि जेबीटी व सीएंडवी से पदोन्नत होकर जो शिक्षक टीजीटी लगे हैं, वह स्वयं को सीनियर मान रहे हैं, जबकि उनकी पदोन्नति 2012 में हुई है और 2008 से लेकर 2012 के बीच के इतने लंबे अंतराल में इस काडर के विज्ञान शिक्षक किस तरह से कनिष्ठ हो सकते हैं।

संघ की बात को किसी भी सूरत में सहन नहीं करेगा। इसके अलावा संघ ने विज्ञान प्रयोग भत्ता 150 से बढ़ाकर 1000 रुपये करने की भी मांग उठाई है। सभी विज्ञान संकाय पर पाठशालों में जीव विज्ञान विषय भी लागू किए हैं, क्योंकि बहुत सी पाठशालाएं बिना जीव विज्ञान के चल रही हैं, जोकि विज्ञान अध्यापक के साथ बहुत बड़ा अन्याय है। इस बैठक में जिला महामंत्री जय सिंह ठाकुर, उपाध्यक्ष सुनील कुमार, अशोक वालिया, पूजा वैद्य, राकेश ठाकुर, राजीव ठाकुर, भूप सिंह सैनी, सुंदरनगर के अध्यक्ष रविकांत, बल्ह खंड के अध्यक्ष लवलीन, प्रवीण प्ररासर, चांद राम, देवेंद्र पाल, देवराज राजपूत व इंद्रजीत सिंह ठाकुर समेत अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे।

Advertisements

- Advertisement -

%d bloggers like this: