- Advertisement -

न्यायपालिका में खामियांः Media के समक्ष आएं 4 सिटिंग जज, PM ने बुलाई बैठक

0

- Advertisement -

नई दिल्ली। पहली बार न्यायपालिका में शुक्रवार को कुछ ऐसे दिखा जो पहले नहीं हुआ था। सुप्रीम कोर्ट के सिटिंग जजों ने प्रेस कांफ्रेंस के माध्यम से व्यवस्था पर कुछ सवाल उठाएं हैं। ये जज हैं जस्टिस चेलमेश्वर, जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस मदन लोकुर व जस्टिस कुरियन जोसेफ। उधर जजों के मीडिया के समक्ष न्यायपालिका में खामियों की शिकायत पर सरकार में हड़कंप मच गया है और इस मामले में पीएम ने कानून मंत्री को तलब किया है। चीफ जस्टिस के बाद दूसरे सबसे वरिष्ठ जज जस्टिस चेलमेश्वर सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि प्रशासन ठीक ढंग से काम नहीं कर रहा है।पहली बार सुप्रीम कोर्ट में ऐसा हुआ जो नहीं होना चाहिए था। हमें लगा हमारी देश के प्रति जवाबदेही है। उन्होंने इस मुद्दे पर चीफ जस्टिस से भी बात की पर उन्होंने बात नहीं सुनी। अगर ऐसा चलता रहा हो लोकतांत्रिक परिस्थिति ठीक नहीं होगी। उधर सुप्रीम कोर्ट की खामियां सामने आने के बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद व राज्यमंत्री पीपी चौधरी को तलब किया है। जाहिर है कि सरकार इस मुद्दे को अधिक तूल नहीं देना चाहती है। यही कारण है कि बैठक में कानून मंत्री को पीएम जरूरी निर्देश दे सकते हैं। जजों का कहना है कि उन्होंने 4 माह पहले भी चीफ जस्टिस को पत्र लिखा था औक उसमें प्रशासन के बारे में कुछ मुद्दे उठाए थे लेकिन उनकी बात को अनसुना कर दिया गया।

यह भी पढ़ेंः PM Modi @ प्रथम प्रवासी सांसद सम्मेलन: बोले, बदल रहा है भारत के प्रति दुनिया का नजरिया

- Advertisement -

Leave A Reply