उद्घोषित अपराधी पकड़ो-ईनाम पाओ, DGP ने कर्मियों का मनोबल बढ़ाने को शुरू की नई पहल

तीन उद्घोषित अपराधी पकड़ने पर मिलेगा प्रथम श्रेणी प्रंशसा पत्र और 500 रुपये का ईनाम

98

- Advertisement -

लोकिन्दर बेक्टा/ शिमला। अदालत से उद्घोषित अपराधियों को पकड़ने पर अब पुलिस के जवानों को प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। डीजीपी एसआर मरढी ने पुलिस अफसरों और कर्मियों का मनोबल बढ़ाने को यह नई पहल शुरू की है। इसके तहत पुलिस का जो भी कर्मचारी एक माह के भीतर राज्य के किसी भी जिला के 3 उद्घोषित अपराधियों को पकड़ेगा, उसे डीजीपी प्रथम श्रेणी प्रंशसा पत्र और 500 रुपये के ईनाम से सम्मानित करेंगे।

वहीं, अगर कोई पुलिस कर्मचारी एक महीने की अवधि के भीतर राज्य के 6 उद्घोषित अपराधियों को पकड़ेगा, तो उसे डीजीपी डिस्क अवॉर्ड से सम्मानित किया जाएगा। इसके तहत राज्य में पंजीकृत अभियोगों में संलिप्त उद्घोषित अपराधियों (पीओ) को पकड़ने के लिए पुलिस हैडक्वार्टर ने एक ईनामी योजना (रिवार्ड स्कीम) शुरू की है।

इस योजना में यह सम्मान पुलिस टीम के केवल एक ऐसे कर्मचारी को दिया जाएगा, जिसने इस कार्य में अहम भूमिका निभाई होगी। इस योजना के तहत आपराधिक मामलों में संलिप्त उद्घोषित अपराधी ही मान्य होंगे और नेगोशियेबल इन्स्ट्रूमेंटल एक्ट के अधीन घोषित किए गए उद्घोषित अपराधी नहीं माने जाएंगे। एसपी (कानून व्यवस्था) डॉ. खुशहाल शर्मा ने यह जानकारी देते हुए कहा कि प्रदेश के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) इससे पहले मादक पदार्थों की तस्करी को रोकने के लिए इसी प्रकार की ईनामी योजना शुरू कर चुके हैं और इसके भी अच्छे परिणाम आ रहे हैं। उस योजना के तहत 100 ग्राम से ज्यादा मादक पदार्थ पकड़ने पर प्रशंसा पत्र व ईनाम और 8 किलोग्राम से अधिक मादक पदार्थ पकड़ने पर डीजीपी डिस्क अवार्ड देने की बात कही गई है।

डबल मर्डर केस सुलझाने पर 15 कर्मी सम्मानित

डीजीपी एसआर मरढी ने शोघी के समीप हुए डबल मर्डर मामले की गुत्थी सुलझाने वाले 15 पुलिस कर्मचारियों को प्रथम श्रेणी प्रशंसा पत्र व 7500 रुपये का ईनाम स्वीकृत किया है। बालुगंज पुलिस की टीम ने सिरमौर पुलिस से तालमेल से एक दिन में ही इस मामले में दो आरोपी सिरमौर जिले से दबोचे थे।

वहीं, कांगड़ा जिले में ज्वाली थाने के तहत हाल ही में दर्ज हत्या के मामले को सुलझाने वाले एक राजपत्रित पुलिस अधिकारी को प्रशंसा पत्र और 2 पुलिस कर्मचारियों को प्रथम श्रेणी प्रशंसा पत्र व 1000 रुपए के ईनाम से सम्मानित किया गया है। उधर, वर्ष 2016 में एटीएम कार्ड के क्लोन बनाने के नाहन थाना में दर्ज मामले को सुलझाने व आरापियों को पकड़ने पर पुलिस अधीक्षक सिरमौर को प्रशंसा पत्र व एक पुलिस कर्मचारी को प्रथम श्रेणी प्रंशसा पत्र व 500 रुपये के ईनाम से सम्मानित किया गया है।

नशे के खिलाफ चलाए अभियान में पुलिस ने दर्ज किए 117 केस

नशे के खिलाफ पुलिस के चलाए गए विशेष अभियान के तहत 19 जनवरी से 12 फरवरी तक एनडी एंड पीएस एक्ट के तहत 142 आरोपियों के खिलाफ 117 केस दर्ज किए है। इनके कब्जे से 53 किलोग्राम चरस, 516 ग्राम अफीम, 155 किलोग्राम चूरा पोस्त, 57 किलोग्राम गांजा, 127 ग्राम हेरोइन, 20 ग्राम कोकीन, 5500 नशीली गोलियां, 195 नशीली दवा की बोतल और 55 इंजेक्शन बरामद किए गए हैं।

- Advertisement -

Leave A Reply

%d bloggers like this: