- Advertisement -

Dharamshala आने का Plan है तो इन जगहों को जरूर देखें, मन खुश हो जाएगा ….

Trekking के शौकीनों के लिए किसी जन्नत से कम नहीं Dharamshala

0

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी डेस्क। अप्रैल का महीना और चिलचिलाती धूप। ऐसे में मैदानी क्षेत्रों में रहने वाले लोग पहाड़ी क्षेत्रों का रुख करते हैं, जिसे पहाड़ी क्षेत्रों में पर्यटन सीजन के रूप में देखा जाता है। अगर आप भी अपनी गर्मियों की छुट्टियों में खूबसूरत पहाड़ी राज्य हिमाचल प्रदेश घूमने का प्लान कर रहे हैं तो यह खबर पढ़ना आपके लिए जरूरी है। आज हम आपको जानकारी देंगे हिमाचल प्रदेश के कुछ महत्वपूर्ण पर्यटक स्थलों के बारे में। हिमाचल प्रदेश एक छोटा सा खूबसूरत पहाड़ी राज्य। हिमाचल प्रदेश में कुल 12 जिले हैं। सबसे बड़ा जिला कांगड़ा है, तो आइए आज बात करते हैं कांगड़ा की।

प्रदेश का सबसे बड़ा जिला कांगड़ा अपने प्राकृतिक सौंदर्य के लिए विश्वभर में प्रख्यात है। जिला कांगड़ा में ही स्थित है शीतकालीन राजधानी Dharamshala, जिसे अब केंद्र सरकार द्वारा स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित होने वाले 100 शहरों की लिस्ट में शामिल किया गया है।

Dharamshala, कांगड़ा जिला का मुख्यालय है। Dharamshala के Mcleodganj में तिब्बती धर्मगुरु दलाईलामा का निवास स्थान व केंद्रीय तिब्बती प्रशासन का मुख्यालय है। जिस कारण हिमाचल की सीमा से सटे पड़ोसी राज्यों के साथ-साथ बड़ी संख्या में विदेशी पर्यटक भी इस और रुख करते हैं। Dharamshala को अगर जिला कांगड़ा के सबसे बड़े पर्यटक स्थल की उपाधि दी जाए तो शायद गलत न होगा। अब बात करते हैं Dharamshala के पर्यटक स्थलों की:

बात जब घूमने-फिरने की हो तो सबसे पहला नाम आता है Mcleodganj का। पंजाब के लेफ्टिनेंट गवर्नर सर डोनाल्ड फ्रील मैक्लॉड के नाम पर Mcleodganj का नाम रखा गया। समुद्र तल से Mcleodganj की औसत ऊंचाई 2,082 मीटर यानी 6,831 फीट है। Mcleodganj धौलाधार पर्वतश्रेणी में स्थित है। इसका उच्चतम शिखर हनुमान का टिब्बा है, जो कि तकरीबन 5,639 मीटर यानी 18,500 फीट ऊंचा है। यदि आप ब्रिटिशकालीन भारत के आर्किटेक्चर की एक झलक देखना चाहते हैं तो आपको Mcleodganj व साथ लगते फरसेटगंज की सैर जरूर करनी चाहिए। अगर आप ट्रैकिंग के शौकीन हैं तो जिला कांगड़ा आपके लिए ट्रैकर्स की जन्नत से कम नहीं। आप Dharamshala से मैक्लोडगंज पहुंचने के बाद किसी प्रमाणित व अनुभवी ट्रेकर के दिशा निर्देशानुसार अपनी ट्रैकिंग शुरु कर सकते हैं।

Dharamshala के प्रमुख ट्रैकिंग स्थल:

त्रियुंड – 2,850 मीटर

करेरी लेक – 2,934 मीटर

गुणा माता मंदिर – 2310 मीटर

इसके अलावा आप त्रियूंड से आगे इंद्रहार पास होते हुए चंबा के भरमौर तक भी ट्रैकिंग कर सकते हैं। लेकिन इसके लिए आपके साथ किसी प्रमाणित व अनुभवी ट्रैकर का साथ होना आवश्यक है। इसके साथ ही आप Mcleodganj में भागसूनाग वॉटर फॉल, इंद्रुनाग, खनियारा का खड़ोता गांव, धर्मकोट, गलू माता मंदिर तक हल्की-फुल्की ट्रकिंग का मजा ले सकते हैं। अगर आप एडवेंचर स्पोर्टस के शौकीन हैं तो आपके लिए Dharamshala में Rock Climbing, Rappelling, Flying Fox, Urban Zip line और Night Camping की सुविधा उपलब्ध है।अब अगर बात की जाए जिला कांगड़ा की तो प्रदेश के सबसे बड़े जिला में आपको घूमने के लिए बहुत सी जगहें हैं।

जिला कांगड़ा के प्रमुख पर्यटन स्थल:

Dharamshala के प्रमुख पर्यटन स्थलों में नड्डी, डल लेक, Mcleodganj, भागसूनाग मंदिर, भागसूनाग वॉटर फॉल, दलाईलामा मंदिर, त्रियूंड, करेरी लेक, कोतवाली बाजार स्थित कांगड़ा आर्ट म्यूज़ियम, Mcleodganj स्थित सेंट जॉन चर्च, सिविल लाइन स्थित वॉर मेमोरियल व वॉर म्यूजियम, चीलगाड़ी स्थित चाय बागान, कपालेश्वरी देवी ( कुनाल पत्थरी ) मंदिर, इंद्रूनाग, अघंजर महादेव मंदिर व अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम शामिल हैं। इसके साथ ही कांगड़ा स्थित माता बज्रेश्वरी मंदिर, पुराना किला, मसरूर के रॉक कट टेंपल, बगलामुखी माता मंदिर, मां ज्वाला देवी मंदिर, पालमपुर स्थित गोपालपुर चिड़ियाघर, सौरभ वन विहार, सोभा सिंह आर्ट गैलरी, चाय बागान, जखनी माता मंदिर व बंदला माता मंदिर, बैजनाथ स्थित विश्व प्रसिद्ध बैजनाथ धाम, महाकाल मंदिर, ताशीजोंग खंपागार बौद्ध मोनेस्ट्री व उतराला पावर प्रोजेक्ट शामिल हैं

आशा करते हैं कि आपको यह जानकारी पसंद आई होगी। अपनी राय व सुझाव हमसे साझा करने के लिए कमेंट सेक्शन में कमेंट करना न भूलें। Happy Vacations…

- Advertisement -

%d bloggers like this: