- Advertisement -

खतरनाक है माइक्रोवेव में प्लास्टिक कंटेनर का इस्तेमाल 

do not use plastic in microwave

0

- Advertisement -

अगर आप उन लोगों में से हैं जो माइक्रोवेव में  खाना गर्म करने के लिए प्लास्टिक कंटेनर का इस्तेमाल करते हैं तो संभल जाइए। यह खतरनाक है, इससे आपकी प्रजनन क्षमता क्षीण हो सकती है,तनाव ,डायबिटीज जैसी बीमारियां हो सकती हैं और साथ ही आप मोटापे के शिकार भी हो सकते हैं। वैज्ञानिकों के अनुसार इससे कैंसर होने की संभावना भी है और यह मस्तिष्क को भी क्षति पहुंचाता है क्योंकि प्लास्टिक नुकसानदेह केमिकल्स छोड़ता है। जब आप इसमें खाना रखकर माइक्रोवेव में गर्म करते हैं तो लगभग 95 प्रतिशत प्लास्टिक का रासायनिक अंश उस भोजन में मिल जाता है।
दरअसल प्लास्टिक कई ऐसे कंपाउंड्स से मिलकर बना है जो उसे मिलकर कड़ा, लचीला और लंबे समय तक बने रहने वाला बनाते हैं। ये सभी केमिकल्स लीवर और किडनी के लिए बेहद हानिकारक हैं। मामला यहीं तक नहीं है ,प्लास्टिक बैग्स में पैक खाना भी स्वास्थ्य के लिए बेहद हानिकारक है इनमें सबसे ज्यादा खतरनाक BPA है जो हमारे खून में मिल जाता है। इसके असर से हॉर्मोनल बदलाव हो सकते हैं  और यह कैंसर का भी कारण बन सकता है।
चिंता की बात यह है कि खाना गर्म करते वक्त ये कैमिकल्स शीघ्रता से  भोजन में शामिल हो जाते हैं। एक अमेरिकन हेल्थ सोसायटीके अध्ययन के अनुसार BPA पुरुष और महिला दोनों की प्रजनन क्षमता को प्रभावित करता है। इसकी वजह से भ्रूण का सही विकास नहीं हो पाता और गर्भपात हो जाता है। जरूरी है कि आप प्लास्टिक के बर्तनों या पैकेट्स का उपयोग कम से कम करें । पैकफूड हमेशा शीशे के कंटेनर्स में लें । उन्हीं कंटेनर्स को माइक्रोवेव में जाने दें, जो इसी के उपयोग के लिए बनाए गए हों। टूटे और पुराने कंटेनर्स उपयोग में न ले आएं तथा ध्यान रखें, कि माइक्रोवेव के अंदर कंटेनर का ढक्कन नहीं लगा होना चाहिए।

- Advertisement -

%d bloggers like this: