- Advertisement -

सुरेश भारद्वाज क्यों बोले, हिमाचल में घटा शिक्षा का स्तर, पढ़ें पूरी खबर

Education Minister accepted that the level of education in Himachal has decreased

0

- Advertisement -

धर्मशाला। शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने भी माना है कि हिमाचल में शिक्षा का स्तर घटा है। यहां मिनी सचिवालय में पत्रकारों से बातचीत करते हुए सुरेश भारद्वाज ने कहा कि गत कुछ वर्षों में प्रदेश में शिक्षक संस्थानों का विस्तार तो हुआ है। लेकिन, शिक्षा का स्तर घटा है। उन्होंने कहा कि यदि तय नियमों को सही ढंप से लागू किया जाए तो शिक्षा व्यवस्था में सुधार लाना संभव है।
उन्होंने कहा कि सरकार शिक्षा के अधिकार अधिनियम को पूरी तरह लागू करने के लिए प्रतिबद्ध है। शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने कहा कि कहा कि प्रदेश में सीएम आदर्श विद्या केंद्र योजना के तहत इस वर्ष 10 विद्यालय खोले जाएंगे। इसके लिए सरकार ने 25 करोड़ रुपये का प्रावधान किया है। शिक्षा मंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार सरकारी स्कूलों में विद्यार्थियों की संख्या बढ़ाने और उन्हें गुणवत्तायुक्त शिक्षा देने के लिए ठोस कदम उठा रही है।

धर्मशाला सचिवालय में हर सप्ताह जनसमस्याएं सुनेंगे मंत्री

सुरेश भारद्वाज ने कहा कि प्रदेश शिक्षा बोर्ड के सभी स्कूलों में अब एनसीईआरटी की किताबों से ही पढ़ाई होगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश बोर्ड के स्कूलों में सीबीएसई स्कूलों के की तर्ज पर परीक्षा प्रणाली के लिए सभी प्रयास किए जा रहे हैं।  उन्होंने कहा कि सभी विधायकों से भी आग्रह किया गया है कि वे उन स्कूलों से जुड़े जहां से उन्होंने पढ़ाई की है तथा स्कूल के विकास और शिक्षा के स्तर में सुधार में मदद करें और निगरानी भी सुनिश्चित बनाएं। सुरेश भारद्वाज ने बताया कि सीएम के निर्देशानुरूप लोगों की समस्याओं के त्वरित समाधान के लिए कांगड़ा जिला से संबंधित मंत्रियों में से कोई न कोई मंत्री हर सप्ताह धर्मशाला मिनी सचिवालय में बैठेंगे। इसके अलावा यह भी तय किया जाएगा कि धर्मशाला दौरे पर आने वाले मंत्री अन्य कार्यों के अलावा सचिवालय में मौजूद रह कर जनससमयाएं सुनें।

- Advertisement -

%d bloggers like this: