सत्ता बदलते ही अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ पर दूसरे गुट का कब्जा

0

शिमला। हिमाचल प्रदेश में सत्ता परिवर्तन होते ही प्रदेश के कर्मचारियों के सबसे बड़े संगठन हिमाचल प्रदेश अराजपत्रित कर्मचारी संघ पर दूसरे गुट ने कब्जा कर लिया है। बीजेपी के करीबी और संघ से जुड़े कर्मचारी नेता सुरेंद्र ठाकुर (सुरेंद्र गुट) ने महासंघ के अध्यक्ष का पदभार ग्रहण कर कामकाज संभाल लिया है। अभी एसएस जोगटा महासंघ के निर्वाचित अध्यक्ष हैं और उन्होंने महासंघ कार्यालय में जबरन घुसने की निंदा की है। साथ ही कहा है कि चुनाव में जीतकर आएं और फिर खुलकर कार्यभार संभालें और कहा कि इस संबंध में सीएम जयराम ठाकुर से बात की जाएगी।

उधर, सुरेंद्र ठाकुर गुट ने आज महासंघ के कार्यालय में कब्जा कर महासंघ अध्यक्ष का पदभार संभाला और उन्होंने अपनी नई कार्यकारिणी का भी गठन कर लिया। सुरेंद्र ठाकुर ने दूसरी बार महासंघ अध्यक्ष के रूप में  कार्यभार संभाला है।

ठाकुर ने कहा कि वे अपनी टीम में नए कर्मचारी नेताओं को शामिल करेंगे। उन्होंने कहा कि महासंघ में  जल्द बड़ा बदलाव होगा। उन्होंने कहा कि वे कर्मचारियों के हितों से जुड़े सभी मुद्दों को प्रमुखता से सरकार से उठाएंगे। इसमें 4-9-14 का मुद्दा भी शामिल है। सुरेंद्र ठाकुर ने कहा कि किसी भी कर्मचारी का उत्पीड़न नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जल्द ही महासंघ का पुनर्गठन होगा और सभी मामले को कोर कमेटी के समक्ष रखा जाएगा। 

मार्च तक है जोगटा का कार्यकाल

वहीं, महासंघ के निर्वाचित अध्यक्ष एसएस जोगटा ने कहा कि वे महासंघ के अध्यक्ष हैं और उनका कार्यकाल मार्च तक है। यदि किसी को उनके स्थान पर आना है तो वो चुनाव के माध्यम से आए, लेकिन जिस तरह से एक गुट ने महासंघ कार्यालय में जबरन घुसपैठ की है, वह गलत है और यह कर्मचारियों का अपमान है। उन्होंने कहा कि वे इस संबंध में सीएम जयराम ठाकुर से मुलाकात बात करेंगे। उन्होंने कहा कि जिस तरह से यह घटनाक्रम हुआ है, वह निंदनीय है। उन्होंने कहा कि पहले ही तरह वे चुनाव के जरिए आगे आएं, तो सभी स्वागत करेंगे।

You might also like More from author

Leave A Reply