Advertisements

फर्जी चेक Clearance मामले में Police ने हरियाणा-दिल्ली से पकड़े 5 आरोपी

- Advertisement -

3 करोड़ का चेक क्लीयर करवाना चाहते थे आरोपी

नाहन। औद्योगिक क्षेत्र कालाअंब में 3 करोड़ के फर्जी चेक को क्लीयरेंस के लिए लगाए जाने के मामले में पुलिस ने अब तक कुल पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया  है। पुलिस ने सबसे पहले  आरोपी गुरप्रीत निवासी हरियाणा को 24 नवंबर को गिरफ्तार किया था, जिसके बाद पूछताछ में अमरदीप झा निवासी हरियाणा और धर्मवीर सिंह निवासी यूपी को गिरफ्तार किया गया। पुलिस की सख्ती के आगे दो नाम और सामने थे, जिन्हें भी पुलिस ने तुरंत काबू कर लिया।

पकड़े गए दो अन्य आरोपी राजेश पांडे और अरशद अहमद है। बताया जा रहा है कि राजेश पांडे दिल्ली डाक विभाग में कार्यरत है, जबकि अरशद पहले से हिस्ट्री शीटर रहा है, उसके खिलाफ पहले भी फ्रॉड चेक का मामला दर्ज है। वहीं पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार राजेश पांडे से कुछ खाली फ्रॉड चेक और पोस्टल डॉक्यूमेंट भी बरामद किए गए हैं। बहरहाल पुलिस इस मामले में पकड़े गए आरोपी को कोर्ट में पेश करने की तैयारी कर रही है।

3 करोड़ के फर्जी चेक क्लीयरेंस का मामला आया था सामने 

गौर रहे कि औद्योगिक क्षेत्र कालाअंब में 3 करोड़ के फर्जी चेक को क्लीयरेंस के लिए लगाए जाने का मामला सामने आया था। पीएनबी शाखा में एक एनजीओ ने तीन करोड़ का चेक क्लीयरेंस के लिए लगाया था औऱ जब शाखा प्रबंधक ने इतनी बड़ी राशि होने पर चेक की जांच पड़ताल की तो उन्हें इसमें कुछ गड़बड़झाला लगा। बताया जा रहा है कि जांच के दौरान चेक फर्जी निकला था। गौर रहे कि यह चेक उत्तर प्रदेश के आगरा की फर्म एके ट्रेडर्स के पंजाब नेशनल बैंक की कमलानगर शाखा से जारी दिखाया गया था।

पड़ताल में सामने आया है इस तरह का कोई चेक शाखा ने जारी ही नहीं किया है। यह चेक स्पार्क एनजीओ ने कथित तौर पर भुगतान के लिए कालाअंब पीएनबी में जमा करवाया था। बहरहाल, पुलिस ने पांचों आरोपी को पहले ही गिरफ्तार कर लिया था, जबकि इस मामले से पुलिस ने खुद आज पर्दा उठाया। 

Advertisements

- Advertisement -

%d bloggers like this: