मुश्किल : आग लगी तो पलभर में खाक हो जाएगा Solan market

दयाराम कश्यप/सोलन। अगर सोलन बाजार में हल्की सी चिंगारी भी भड़की तो पूरा बाजार राख के ढेर में बदल जाएगा। हालांकि व्यस्त बाजार से 100 मीटर की दूरी पर ही अग्नि शमन विभाग का कार्यालय है, लेकिन जब कोई आपदा आती है, तो फायर ब्रिगेड की गाड़ी को मौके तक पहुंचने में एक घंटे से ज्यादा समय लग जाता है।

  • तंग गलियों के चलते बाजार से नहीं निकल पाती फायर ब्रिगेड की गाड़ी

गौर रहे कि सोलन बाजार में तेजी से फैल रहे अतिक्रमण के चलते वाहनों का गुजरना तो दूर की बात है, यहां से लोगों का पैदल चलना भी मुश्किल  हो गया है। बहरहाल आपदा से निपटने के लिए जब विभाग ने यहां अभ्यास किया तो सब लोग हैरान रह गए। तंग गलियों से फायर ब्रिगेड़ की बड़ी गाड़ियां बड़ी मुश्किल से आगे बढ़ पा रही थीं। अब ऐसे में यदि भविष्य में कोई आगजनी हो जाती है तो भयंकर नुकसान हो सकता है।

मुख्य बाजार की सुरक्षा की दृष्टि से जिला प्रशासन के आदेशों पर अग्निशमन विभाग द्वारा एक माह में दो बार वाहन को बाज़ार से गुज़ारा जाता है। इस वर्ष प्रदेश के कई क्षेत्रों में बर्फबारी के बाद आग की घटनाएं सामने आ चुकी हैं, जिसे लेकर विभाग और अधिक सतर्क हो गया है। इसी कारण अब सोलन बाज़ार में अग्निशमन के छोटे वाहन को निकालने का अभ्यास किया गया,लेकिन दुकानों के बाहर रखे सामान के चलते खासी मशक्कत कर वाहन को बाज़ार के दूसरे छोर तक पहुंचाया जा सका, जबकि उपायुक्त द्वारा खास तौर पर दुकानदारों को अपना सामान सड़क पर न रखने के निर्देश दिए गए हैं। अकसर आग की घटना के समय फायर ब्रिगेड देरी से पहुंचने की बात कही जाती है। सोलन के एक मात्र मुख्य बाज़ार में दुकानों से बाहर सामान रखने की पुरानी प्रथा है, लेकिन दुकानदार हैं कि दुकानों के बाहर सामान लगाने से बाज नहीं आते । कई बार राह चलते लोगों के टकराने से सामान गिर जाता है और उस व्यक्ति को दुकानदारों की गालियों का सामना करना पड़ता है। 

Comments