Advertisements

शरद उत्सव का आगाज : मनाली में एक साथ दिखी कई प्रदेशों की संस्कृति 

- Advertisement -

मां हिडिंबा की झांकी के साथ पांच दिवसीय महोत्सव शुरू

कुल्लू। मां हिडिंबा की झांकी के साथ ही मनाली में पांच दिवसीय शरद उत्सव का रंगारंग आगाज हो गया है। इस मौके पर वन, परिवहन एवं खेल मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। इससे पहले गोविंद सिंह ठाकुर ने माता हिडिंबा की पूजा-अर्चना भी की। उन्होंने हिडिंबा माता परिसर से झांकी को हरी झंडी देकर रवाना किया और इसी के साथ शरदोत्सव का आगाज हो गया है।
डीसी कुल्लू युनूस की अध्यक्षता में शुरू हुए शरदोत्सव में भाग लेने के लिए देश के विभिन्न राज्यों के 25 सांस्कृतिक दलों ने मनाली में दस्तक दी है। शरदोत्सव के शुभारंभ मौके पर माता हिडिंबा माता के परिसर से निकली झांकियों ने देशभर भर के अलग-अलग राज्यों की संस्कृति की छटा बिखेरी।
देश के कई राज्यों के सांस्कृतिक दल इस उत्सव में भाग लेने के लिए पहुंचे हैं और अपने-अपने क्षेत्र और राज्य की विशेष वेश भूषा में पारंपारिक परिधानों में सज धजकर झांकियों में भाग लिया। इन झांकियों में विभिन्न राज्यों और स्थानीय संस्थाओं के दलों ने अपनी-अपनी लोकसंस्कृति की शानदार झलक दिखाई।
इस मौके पर मनाली विधानसभा क्षेत्र के करीब 80 से अधिक महिला मंडलों ने पारंपरिक वेशभूषा में सज धजकर कुल्लू के ग्रामीण परिवेश की झलक दिखाई। इस मौके पर अधिकतर महिला मंडलों ने स्वच्छता व साफ सफाई के प्रति लोगों को जागरूक किया और बेसहारा पशुओं को संरक्षण देने के लिए भी ग्रामीणों को जागरूक किया। उल्लेखनीय है कि शरदोत्सव के दौरान झांकियां लोगों के लिए आकर्षक का केंद्र रहती हैं। इस दौरान डीसी कुल्लू यूनुस के अलावा प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित  रहे।
Advertisements

- Advertisement -

%d bloggers like this: