- Advertisement -

Dengue से बच्ची के मौत मामलाः Fortis Hospital दोषी, FIR भी होगी दर्ज

0

- Advertisement -

Fortis Hospital: चंडीगढ़। हरियाणा के गुड़गांव के फोर्टिस अस्पताल में डेंगू से जूझ रही बच्ची के इलाज के लिए अधिक शुल्क की वसूली के मामले में अस्पताल पर शिकंजा कसा गया है। स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि अस्पताल ने बच्ची के परिजनों से ज्यादा फीस वसूली, सस्ती दवाइयों की जगह महंगी दवाई दी गई। 25 बार प्लेटरेट्स चढ़ाए गए और ज्यादा वसूली की गई। विज ने बताया कि फोर्टिस हॉस्पिटल के ब्लड बैंक के लाइसेंस को भी रद करने का आदेश दिया गया है। जाहिर है कि 15 दिनों तक अस्पताल  में भर्ती रही सात साल की बच्ची को बचाया भी नहीं गया और ने इलाज के लिए लगभग 16 लाख रुपए भी वसूले। हरियाणा सरकार ने इसकी जांच के आदेश दिए थे और आज जांच रिपोर्ट में  अस्पताल को दोषी पाया गया है। विज ने कहा कि इस मामले में एफआईआर भी दर्ज कराई जाएगी। हालांकि फोर्टिस हॉस्पिटल ने इन आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि इलाज में सभी स्टैंडर्ड मेडिकल प्रोटोकॉल को फॉलो किया गया था।

Fortis Hospital: अस्पताल  ने 16 लाख का दिया बिल, अधिक शुल्क को आरोप

दिल्ली के द्वारिका में रहने वाले जयंत सिंह की बेटी आद्या को 27 अगस्त से तेज बुखार था, उसे 31 अगस्त को गुड़गांव के फोर्टिस अस्पताल में भर्ती कराया गया था। आद्या का 15 दिन इलाज चला और 10 दिनों तक वह लाइफ स्पोर्ट सिस्टम पर रही। 14 सितंबर को परिवार ने उसे फोर्टिस से ले जाने का फैसला किया, लेकिन उसी दिन बच्ची की मौत हो गई। इसके बाद बच्ची के पिता के एक दोस्त ने 17 नवंबर को अस्पताल के बिल की कॉपी के साथ ट्विटर पर पूरी घटना शेयर की। जिसमें उसमें लिखा कि मेरे साथी की बेटी डेंगू के इलाज के लिए 15 दिन तक फोर्टिस हॉस्पिटल में भर्ती रही और हॉस्पिटल ने इसके लिए उन्हें 16 लाख का बिल दिया। इसके अलावा उन्होंने फोर्टिस अस्पताल पर कई और आरोप भी लगाए। 

यह भी पढ़ें – Max Hospital की ओर से मृत घोषित नवजात ने आज तोड़ दिया दम

- Advertisement -

Leave A Reply