Advertisements

खुशखबरीः आज से आपको डीएल, रजिस्ट्रेशन लेकर नहीं चलना होगा

दस्तावेजों की ई-कॉपी ही काफी होगी, केंद्र ने राज्यों को दिए निर्देश

0

- Advertisement -

नई दिल्ली। आप चाहे दुपहिया गाड़ी पर हों या चौपहिया, अगर ट्रैफिक पुलिस आपको चेकिंग के लिए रोके तो आपको गाड़ी के ओरिजिनल कागज नहीं दिखाने होंगे। यहां तक कि आपका डीएल और गाड़ी का रजिस्ट्रेशन, इंश्योरेंस भी नहीं दिखाना होगा। आप इन सभी की ई-कॉपी से ही काम चला लेंगे।

ये ई-कॉपी आपके मोबाइल पर रहेगी। केंद्र सरकार ने इस बारे में सभी राज्यों को निर्देश जारी कर दिए हैं। इसमें कहा गया है कि ड्राइविंग लाइसेंस और गाड़ी से जुड़े सभी कागजातों की इलेक्ट्रौनिक कॉपी ही पहचान के लिए काफी होगी। इन कागजों को डिजिलॉकर या एमपरिवहन प्लेटफार्म के माध्यम से इलेक्ट्रॉनिक फार्म में प्रस्तुत किया जा सकेगा। ये सरकार के आधिकारिक प्लैटफॉर्म हैं। इनके माध्यम से प्रस्तुत इलेक्ट्रॉनिक फॉर्म में लाइसेंस, पंजीकरण प्रमाण पत्र या अन्य दस्तावेज ड्राइविंग परिवहन प्राधिकरणों द्वारा जारी प्रमाणपत्रों के बराबर माना जाएगा।

ऐसे करें इस्तेमाल

सरकार ने इसके लिए एक वेबसाइट digilocker.gov.in बनाई है। यहां से आप डिजिलॉकर एप को डाउनलोड कर सकते हैं।
इसके बाद आप अपना डिजिलॉकर अकाउंट खोल सकते हैं। इसके लिए आपको मोबाइल नंबर डालना पड़ेगा।
फिर वन टाइम पासवर्ड (OTP) आपके मोबाइल नंबर पर आएगा, जिसे इस्तेमाल कर मोबाइल नंबर को ऑथेंटिकेट कर सकते हैं।

  • इसके बाद आपको यूजरनेम और पासवर्ड सेलेक्ट करना होगा।
  • डिजिलॉकर अकाउंट बनने के बाद आप अपने डॉक्यूमेंट अपलोड कर सकते हैं।
  • डिजिलॉकर की अन्य सेवाओं का लाभ उठाने के लिए आप अपना आधार नंबर भी दे सकते हैं।

सड़क परिवहन मंत्रालय ने क्या कहा

सरकार ने निर्देशों में कहा है कि एमपरिवहन या ई-चालान एप पर वाहन के पंजीकरण विवरण के साथ अगर बीमा का विवरण भी उपलब्ध मिलता है तो बीमा सटिर्फिकेट के भौतिक प्रति की आवश्यकता नहीं है। किसी अपराध के मामले में ऐसे दस्तावेजों को भौतिक रूप से जब्त करने की आवश्यकता नहीं है, क्योंकि कानून प्रवर्तन एजेंसियां ‘ई-चालान’ प्रणाली के द्वारा इलेक्ट्रॉनिक रूप से जब्त कर सकते हैं, जो कि इलेक्ट्रॉनिक डेटाबेस में दिखेगा।

Advertisements

- Advertisement -

%d bloggers like this: