गोपाल दास बोले, Virbhadra Singh की सुरक्षा में तैनात DSP रैंक के अधिकारी को हटाया जाए

0

बिलासपुर। पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह को नियमों व कानूनी प्रावधानों से अधिक मिली सुरक्षा हटाई जाए। प्रेम कुमार धूमल व शांता कुमार भी पूर्व सीएम हैं, ऐसे में पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह को उनसे अधिक सुरक्षा व्यवस्था प्रदान करने का कोई औचित्य नहीं है। सभी पूर्व मुख्यमंत्रियों को नियमानुसार एक समान सुरक्षा मिलनी चाहिए। ऐसे में पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह की सुरक्षा में तैनात डीएसपी रैंक के अधिकारी को तुरंत हटाया जाना चाहिए। यह मांग हिमाचल प्रदेश सर्वकर्मचारी पेंशनर्ज, श्रमिक, युवा बेरोजगार संयुक्त मोर्चा के प्रदेशाध्यक्ष गोपाल दास वर्मा ने बिलासपुर में पत्रकार वार्ता में उठाई है।

एक वर्ष तक नई सरकार के समक्ष नहीं रखेंगे कोई वित्तीय मांग
उन्होंने कहा कि मोर्चा ने निर्णय लिया है कि एक वर्ष तक प्रदेश सीएम जयराम ठाकुर सरकार के समक्ष कोई नई वित्तीय मांग नहीं रखेंगे, क्योंकि पूर्व कांग्रेस सरकार की फिजूलखर्ची की वजह से पूरा प्रदेश 50 हजार करोड़ रुपए के कर्ज में डूबा हुआ है। साथ ही उन्होंने मांग भी की कि जिन कर्मचारी नेताओं को पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह ने बर्खास्त कर रखा है, उन्हें तुरंत बहाल करें। क्योंकि ये वो कर्मचारी नेता हैं, जिन्होंने पूर्व सरकार के समय तत्कालीन मंत्रियों व अधिकारियों द्वारा किए गए भ्रष्टाचारों के खुलासे किए थे।

उन्होंने कहा कि पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह ने सीएम रहते हुए सरकारी खर्च पर हैलिकॉप्टर का निजी प्रयोग किया। करोड़ों रुपए की इस फिजूलखर्ची की भी प्रदेश सरकार जांच करवाए। अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ व पेंशनर्ज वेल्फेयर संघ की मान्यता समाप्त होनी चाहिए, क्योंकि इन संघों के प्रधानों व महासचिवों ने पूर्व सरकार में पेंशनरों व कर्मचारियों की समस्याओं को निपटाने के लिए कुछ नहीं किया।

You might also like More from author

Leave A Reply