First Raising Day: आचार्य की पुलिस को नसीहत; पहले जो हुआ, भविष्य में न हो

0

शिमला। हिमाचल पुलिस के फर्स्ट रेजिंग-डे पर राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने पुलिस की बिगड़ी छवि को सुधारने के लिए इशारों-इशारों में नसीहत दे डाली। राज्यपाल ने कहा कि पिछले दिनों जो कुछ हुआ, प्रदेश में दोबारा नहीं होना चाहिए। इस ओर ध्यान देना जरूरी है। बहरहाल, राज्यपाल ने अपने संबोधन में  आचार्य ने कहा कि किसी भी प्रदेश में कानून व्यवस्था सबसे बड़ा काम होता है और इसका जिम्मा पुलिस का होता है। हिमाचल पुलिस ने अपनी प्रतिभा का परिचय दिया है और इसे बनाए रखना है। पुलिस को अपनी छवि ऐसी बनानी है कि लोगों में विश्वास का भाव बना रहे। राज्यपाल ने नशे की लगातार बढ़ रही प्रवृत्ति पर चिंता जताई और कहा कि देव भूमि को ड्रग भूमि न बनने दें। आज जिस तरह से नशे का प्रचलन बढ़ रहा है, वह चिंताजनक है और इसके लिए समाज के हर वर्ग को मिलकर इसके खिलाफ अभियान छोड़ना होगा।

ज्यादा पढ़ -लिख गए हैं लेकिन नैतिकता कम हो रही है

राज्यपाल ने कहा कि पुलिस और जनता के बीच विश्वास होना चाहिए। ज्यों ज्यों हम विकास की ओर आगे बढ़ रहे हैं, नैतिकता का ह्रास हो रहा है । यह चिंता जनक है। उनका कहना था ति आज हम ज्यादा पढ़ -लिख गए हैं लेकिन नैतिकता कम हो रही है। आज मानव बुराई की ओर तेजी से बढ़ता है, लेकिन अच्छाई की ओर उतनी तेजी दिखाई नहीं देती। उनका कहना था कि आज मौका मिलते ही लोग झूठ बोलने से बाज नहीं आते और यह गलत दिशा में जा रहे हैं और इसे रोकना होगा। उन्होंने कहा कि पुलिस का काम सिद्धांतों के साथ काम करना है और जो सिद्धान्त के साथ काम करता है वह आगे बढ़ेगा। राज्यपाल ने कहा कि हिमाचल देव भूमि है और यहां के प्रति लोगों में अलग आस्था है। यहां सैलानी आते हैं और उनका सीधा संपर्क पुलिस से बनता है और जो प्रभाव सैलानियों पर पड़ता है वह वे उसे ही आगे ले जाते हैं। ऐसे में पुलिस का भाव ऐसा हो कि वे उनका मन जीत ले और यह उनके व्यवहार से राज्य से बाहर हिमाचल पुलिस का अच्छा संदेश जाएगा। 

थर्ड बटालियन पंडोह व चंबा सदर थाना The best

इससे पहले हिमाचल प्रदेश पुलिस के फर्स्ट रेजिंग डे का रंगारंग आगाज हुआ। ऐतिहासिक रिज पर हुए इस कार्यक्रम का शुभारंभ राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने किया। उन्होंने पुलिस की विभिन्न टुकड़ियों के मार्चपास्ट की सलामी ली।  राज्यपाल ने स्थापना दिवस मैडल का विमोचन किया। उन्होंने पुलिस की वार्षिक दिवस पुस्तिका का भी विमोचन किया। राज्यपाल ने अंतरराष्ट्रीय कबड्डी खिलाड़ी अजय ठाकुर व प्रियंका नेगी, बाक्सर गीता नंद, बाक्सर अतुल ठाकुर, कुश्ती खिलाड़ी रानी, बाक्सर अजय सिंह, परेड कमांडर डॉ. मोनिका, देवराज को सम्मानित किया गया। सात बटालियन में से इस वर्ष थर्ड बटालियन पंडोह को सर्वश्रेष्ठ बटालियन के लिए चुना गया। राज्य के सर्वश्रेष्ठ थाने में चंबा सदर थाने को चुना गया। अजय ठाकुर की अगुवाई में भारत ने एशिया कप जीता था। प्रियंका नेगी भी कबड्डी खिलाड़ी हैं और देश के लिए खेलती हैं। गीता नंद, अतुल ठाकुर और अजय सिंह बॉक्सिंग खिलाड़ी हैं। रानी कुश्ती खिलाड़ी हैं। डॉ. मोनिका लाहौल स्पीति की रहने वाली हैं और एमबीबीएस करने के बाद आईपीएस में आई हैं। देवराज को शानदार कार्य के लिए सम्मानित किया गया। इस मौके पर मुख्य सचिव वीसी फारका समेत कई अधिकारी मौजूद थे। इस मौके पर पुलिस के जवानों मे रंगा रंग कार्यक्रम भी पेश किया।

You might also like More from author

Leave A Reply