Advertisements

ITI दौलतपुर @ काजल की जोर जबरदस्ती के बाद आज Bali कर गए उद्घाटन

- Advertisement -

शिक्षा के भवन पर राजनीति से हर ओर चर्चा

GS Bali: कांगड़ा। शिक्षा के मंदिर से बच्चों को कुछ सीखने को मिले न मिले, लेकिन कांगड़ा के दो नेताओं की हठधर्मी से वे कुछ तो जरूर सीखेंगे। जी हां, बात हो रही है दौलतपुर आईटीआई की।  जिसका उद्घाटन राजनीति का अखाड़ा बन गया है। हुआ यूं कि बीते कल यानि गुरुवार को कांगड़ा से एसोसिएट विधायक ने आनन-फानन में आईटीआई के नवनिर्मित भवन का रिबन काट दिया, जबकि शुक्रवार को प्रदेश के तकनीकी शिक्षा मंत्री जीएस बाली ने तय कार्यक्रम के अनुसार इस भवन को एक बार फिर से जनता के नाम कर दिया।

हालांकि दोनों नेताओं के बीच विवाद की जड़ क्या है यह तो शायद ही कोई जानता हो, लेकिन शिक्षा के मंदिर पर हो रही राजनीति की चारों ओर चर्चा है। बहरहाल, शुक्रवार सुबह जीएस बाली ने अपने लाव लश्कर के साथ दौलतपुर आईटीआई का फीता काट दिया।

पहले कांग्रेस के एसोसिएट विधायक पवन काजल ने किया था उद्घाटन

गौर रहे कि गुरुवार को नियमों को ताक पर रख कर पहले कांग्रेस के एसोसिएट विधायक पवन काजल ने इसी भवन का उद्घाटन कर दिया था। जबकि, शुक्रवार को तय कार्यक्रम के अनुसार तकनीकी शिक्षा मंत्री जीएस बाली ने भी दोबारा से इसी भवन को जनता के सुपुर्द कर दिया। बताते चलें कि यहां पर खुली आईटीआई का उद्घाटन तकनीकी शिक्षा मंत्री होने के नाते जीएसबाली को शुक्रवार को करना था, लेकिन स्थानीय विधायक पवन काजल एक दिन पहले ही यानि गुरुवार को उद्घाटन दिया। इतना ही नहीं जो पंचायत प्रधान पहले दिन कार्यक्रम में मौजूद थे। उन्होंने अगले दिन यानी बाली के कार्यक्रम का बहिष्कार तक करने का निर्णय लिया था।  सवाल यह है कि कांगड़ा की राजनीति किस तरफ जा रही है और जनता में इससे क्या संदेश जा रहा है। शायद ही इसकी परवाह इन नेताओं को है। 

ITI दौलतपुर@ बाली की लंगड़ी पर Kajal की जोर जबरदस्ती, कर दिया उद्घाटन
Advertisements

- Advertisement -

%d bloggers like this: