Advertisements

Gudiya Murder Case ; न्यायिक हिरासत में चल रहे Zaidi सहित 9 पुलिस कर्मियों को राहत नहीं

सीबीआई कोर्ट ने अब डाली 23 फरवरी की पेश,  उसी दिन वॉयस सेंपल मामले की भी होगी सुनवाई

- Advertisement -

शिमला। गुड़िया प्रकरण से जुड़े सूरज की पुलिस कस्टडी में हुई मौत के मामले में न्यायिक हिरासत में चल रहे पूर्व आईजी समेत सभी 9 पुलिस कर्मियों को दूर-दूर तक राहत के आसार नहीं दिख रहे हैं। लगातार बढ़ रही इनकी न्यायिक हिरासत अब 23 फरवरी तक आगे खिसक गई है। मंगलवार को सीबीआई कोर्ट में पेश किए गए सभी आरोपियों को कोर्ट ने फिर से न्यायिक हिरासत में भेज दिया। अब इन्हें 23 फरवरी को पेश किया जाएगा तथा उसी दिन वॉयस सेंपल मामले की भी सुनवाई होगी।

सभी आरोपी 23 फरवरी तक न्यायिक हिरासत में भेजे

पिछले वर्ष 4 जुलाई को कोटखाई के महासू क्षेत्र से गुड़िया लापता हुई थी और 6 जुलाई की सुबह उसकी लाश महासू के साथ लगते दांदी के जंगल से मिली थी। इस मामले में सीबीआई ने प्रदेश पुलिस की एसआईटी ने सूरज समेत कुल छह लोगों को गिरफ्तार किया था, लेकिन बाद में सूरज की पुलिस लॉकअप में हत्या हो गई थी और इसका आरोप गुड़िया मामले के दूसरे आरोपी राजू पर लगा था। इसके बाद सरकार ने इस मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी थी और सीबीआई ने सूरज हत्या मामले में आईजी जैदी समेत आठ पुलिस कर्मियों को गिरफ्तार कर लिया था। वहीं, राजू समेत अन्य बचे पांच आरोपियों को जमानत मिल गई।
उधर, सीबीआई ने बाद में शिमला के तत्कालीन एसपी डीडब्ल्यू नेगी को भी सूरज मामले में गिरफ्तार किया था। अब ये सभी न्यायिक हिरासत में चल रहे हैं। आईजी जहूर जैदी समेत आठ पुलिस कर्मी सूरज हत्या मामले में 29 अगस्त 2017 को सीबीआई द्वारा गिरफ्तार किया गया था, जबकि शिमला के पूर्व एसपी डीडब्ल्यू नेगी को 16 नवंबर को गिरफ्तार किया गया था। अब ये सभी 23 फरवरी तक न्यायिक हिरासत में रहेंगे।

Advertisements

- Advertisement -

%d bloggers like this: