फुलवारी योजनाः आंगनबाड़ियों को गोद लिए जाने के प्रस्ताव को मंजूरी

चंडीगढ। हरियाणा के सीएम मनोहर लाल ने महिला एवं बाल विकास विभाग की हमारी फुलवारी योजना के अंतर्गत राज्यभर में कहीं भी व्यक्ति विशेष या संगठनों द्वारा आंगनबाड़ियों को गोद लिए जाने के प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान की है। महिला एवं बाल विकास मंत्री कविता जैन ने बताया कि समाज कल्याण गतिविधियों और बच्चों की शिक्षा को प्रोत्साहित करने का कार्य कर रहे व्यक्ति या संगठनों द्वारा आंगनबाड़ियां गोद ली जा सकती हैं, ताकि वे भवन निर्माण, तकनीकी सहयोग अथवा कौशल विकास में योगदान देकर आंगनबाड़ियों केन्द्रों की सुविधाओं का विस्तार कर सकें।

उन्होंने कहा कि राज्य में 25.000 से अधिक आंगनबाड़ियों केंद्र हैं। योजना के तहत आंगनबाड़ी केंद्र को गोद लेने वालों को एक आंगनबाड़ी केन्द्र के सुधार पर एक लाख रुपए से अधिक की राशि खर्च करनी होगी। आंगनबाड़ी केन्द्र गोद लेने वाले व्यक्तियों या संगठनों के नाम आंगनबाड़ी केन्द्र के पटल पर अंकित किए जाएंगे। इसके अतिरिक्ति उन्हें इस संबंध में प्रमाणपत्र दिया जाएगा और जिला स्तरीय सरकारी कार्यक्रम में आमंत्रित किया जाएगा। इसके अलावा विभाग की वेबसाइट पर भी उनके नामों का उल्लेख किया जाएगा ताकि अन्य लोग भी ऐसा करने के लिए प्रेरित हों।

You might also like More from author

Comments