हड़कंप: डेंगू के 401 मामले सामने आने के बाद Health Minister ने बुलाई बैठक, Advisory जारी

0

शिमला। प्रदेश के विभिन्न भागों, विशेषकर सोलन जिला में डेंगू महामारी के फैलने का संज्ञान लेते हुए स्वास्थ्य मंत्री कौल सिंह ठाकुर ने बैठक बुलाई। बैठक में स्वास्थ्य विभाग, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड तथा अन्य संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद रहे। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि डेंगू से निपटने के लिए व्यापक प्रबंध किए गए हैं। राज्य के विभिन्न भागों में डेंगू की आशंका को लेकर 2,621 लोगों की स्वास्थ्य जांच की गई है, जिनमें से 401 मामले पॉजीटिव पाए गए हैं।

  • डेंगू से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग सतर्क
  • अभी तक की गई 2621 लोगों की स्वास्थ्य जांच
  • जांच में डेंगू के 401 मामले आए हैं पॉजीटिव
  • अधिकांश मामले, परवाणू, बद्दी और नालागढ़ से

उन्होंने कहा कि अकेले सोलन जिला में डेंगू के 265 मामले पॉजीटिव पाए गए हैं और इनमें से अधिकांश मामले परवाणू, बद्दी, बरोटीवाला व नालागढ़ (बीबीएनडीए) में कार्यरत प्रवासी मजदूरों में पाए गए हैं। उन्होंने कहा कि विभाग की सतर्कता के कारण डेंगू से अभी तक कोई भी मृत्यु नहीं हुई है। डेंगू महामारी पर रोक लगाने के उद्देश्य से स्वास्थ्य विभाग द्वारा एक एडवाइजरी भी जारी की गई है।

प्रदेश में डेंगू की निशुल्क जांच की जा रही

कौल सिंह ने कहा कि प्रदेशभर में डेंगू की निःशुल्क जांच की जा रही है और पॉजीटिव मामलों में रोगियों को निःशुल्क दवाइयां व उपचार सुविधा प्रदान की जा रही है। उन्होंने कहा कि विभाग स्थानीय निकायों को संबंधित क्षेत्रों में स्प्रे करने के लिए निःशुल्क फॉगिंग मशीनें उपलब्ध करवा रहा है। उन्होंने स्थानीय निकायों से अपील की है कि किसी भी स्थान पर पानी एकत्र न होने दें क्योंकि चार-पांच दिनों तक एक जगह पर ठहरा साफ जल भी डेंगू के मच्छर के पैदा होने का कारण बन सकता है। स्वास्थ्य मंत्री ने इस संबंध में जिला प्रशासन सोलन को एसडीएम, तहसीलदार तथा नायब तहसीलदारों के विभिन्न दल गठित कर प्रभावित क्षेत्रों का व्यापक निरीक्षण करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने एसडीएम नालागढ़ को भी क्षेत्र का विस्तृत दौरा व निरीक्षण करने तथा स्थिति का पता लगाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि उल्लंघन करने वाली कम्पनियों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी। स्वास्थ्य मंत्री ने प्रदूषण नियत्रंण बोर्ड के सचिव को ओद्यौगिक इकाईयों से निकल रहे प्रदूषित तरल का समुचित निदान सुनिश्चित करवाने तथा पानी के एक जगह पर एकत्र होने को रोकने के लिए प्रभावित क्षेत्रों के सघन निरीक्षण के आदेश दिए हैं।

यह भी पढ़ें : डेंगू का डंक: Solan से 170 मामले आए सामने, High alert पर विभाग

You might also like More from author

Leave A Reply