- Advertisement -

परमार की चेतावनी, सुधर जाएं प्राइवेट प्रेक्टिस करने वाले डॉक्टर, नहीं तो

स्वास्थ्य मंत्री विपिन सिंह परमार ने क्षेत्रीय अस्पताल ऊना का किया दौरा

0

- Advertisement -

ऊना। स्वास्थ्य मंत्री विपिन सिंह परमार ने आज क्षेत्रीय अस्पताल ऊना का दौरा किया। इस दौरान स्वास्थ्य मंत्री ने रोगियों का कुशलक्षेम पूछा। वहीं, रोगियों से अस्पताल का फीडबैक भी लिया। परमार ने अस्पताल में एक-एक सभी कमरों में व्यवस्थाओं को जांचा। वहीं, कुछ अव्यवस्थाओं को लेकर स्वास्थ्य मंत्री ने अधिकारियों की जमकर क्लास भी ली। स्वास्थ्य मंत्री ने प्राइवेट प्रेक्टिस करने वाले सरकारी डॉक्टरों को शीघ्र सुधर जाने की चेतावनी भी दी है। अन्यथा प्रेक्टिस करने वाले चिकित्सकों पर सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

किचन की हालत पर अस्पताल प्रशासन से जवाब-तलबी

किचन में पहुंचने पर स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार अव्यवस्थाओं को लेकर भड़क उठे। स्वास्थ्य मंत्री ने किचन की छत को देखकर अस्पताल प्रशासन से जवाब-तलबी की। विपिन परमार ने किचन में बन रहे भोजन सहित अन्य खाद्य पदार्थों की भी समय-समय पर जांच करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जल्द ही किचन में व्हाइट वाश करवाया जाए व अन्य व्यवस्थाएं सुधारी जाएं। जिस तरह से मौजूदा समय में किचन की व्यवस्था है, उससे यहां पर भोजन परोसे जाने का अंदाजा लगाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि अगर भविष्य में इस तरह की कोताही बरती गई तो सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। अगली बार वह बिना बताए औचक निरीक्षण करने पहुंचेंगे।

विपिन परमार ने इसके अलावा मेडिकल वार्ड, सीसीयू वार्ड, डायलिसिस केंद्र का भी जायजा लिया। वहीं, डायलिसिस केंद्र में एसी व जेनरेटर सुविधा न होने पर भी मंत्री ने असंतुष्टि जाहिर की व शीघ्र ही यहां पर एसी व जेनरेटर लगाने के निर्देश दिए। स्वास्थ्य मंत्री ने रोगियों का कुशल क्षेम भी पूछा व ज्यादा से ज्यादा दवाइयां अंदर से ही लिखने की बात भी चिकित्सकों को कही। स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार ने कहा कि अस्पतालों में डॉक्टरों की कमी को दूर करने के लिए प्रदेश सरकार उचित कदम उठा रही है।

- Advertisement -

%d bloggers like this: