Advertisements

High Court का आदेश: कोर्ट में अधिकारी और कर्मचारी उचित परिधान में ही हों उपस्थित

- Advertisement -

High Court : शिमला। प्रदेश हाईकोर्ट ने मुख्य सचिव को आदेश दिए हैं कि किसी भी परिस्थिति में कोई पदाधिकारी, कर्मचारी अदालत में उचित परिधान में उपस्थित हो। न्यायाधीश तरलोक सिंह चौहान और न्यायाधीश अजय मोहन गोएल की खंडपीठ ने मुख्य सचिव को आदेश दिए हैं कि इस बारे जरूरी दिशा-निर्देश जारी करें और अनुपालना रिपोर्ट अदालत के समक्ष पेश करें। आईपीएच विभाग में कार्यरत जूनियर इंजीनियर जब खंडपीठ के समक्ष रंगीन टी-शर्ट और जींस पहनकर पेश हुई तो अदालत ने कड़ी टिप्पणी की। जूनियर इंजीनियर ने अदालत को बताया गया कि वह अकसर इसी परिधान में अपने कार्यालय में सरकारी कामकाज करती आ रही हैं।

Gudiya Murder Caseजूनियर इंजीनियर की प्रतिक्रिया पर अदालत ने टिप्पणी करते हुए कहा कि न्यायिक व्यवस्था एक सभ्य समाज की महत्वपूर्ण विशेषता है। न्यायपालिका लोकतंत्र की रीढ़ है और लोकतांत्रिक राजनीति में, न्यायपालिका की भूमिका कानून कि गरिमा को बनाए रखना है। न्यायाधीशों और मैजिस्ट्रेट्स का न्याय के प्रशासन में एक महत्वपूर्ण रोल है और यही कारण है कि वे उच्च न्यायालय द्वारा बनाए गए नियम के अनुसार ही अदालत की गरिमा और सजावट बनाए रखने के लिए खास तरह का परिधान पहनते हैं। खंडपीठ ने अपने आदेशों में कहा कि अदालत में उपस्थित होने के दौरान सरकारी अधिकारी के साथ-साथ वादियों और प्रतिवादियों को उचित परिधान में रहना चाहिए।

यह भी पढ़ें : सुक्खू@Virbhadra : मैं कब पैदा हुआ यह याद है तो पथयात्रा क्यों नहीं

Advertisements

- Advertisement -

%d bloggers like this: