Advertisements

तबादलों पर ये कैसी रोकः गुपचुप बदल दिए DSP, वेबसाइट पर अभी तक नहीं डाले Transfer Order

पूर्व सीएम धूमल के सुरक्षा अधिकारी रहे प्रमोद शुक्ला को डीएसपी हैडक्वार्टर लगाया

0

- Advertisement -

लोकिन्दर बेक्टा/ शिमला। प्रदेश सरकार ने वैसे तो सामान्य तबादलों पर रोक लगा दी है, लेकिन फिर भी तबादले हो रहे हैं। तबादले होने के बाद उसे गुपचुप भी रखा जा रहा है। पुलिस के हुए तबादलों में ऐसा ही कुछ हुआ है। सरकार ने दो दिन में कुछ डीएसपी गुपचुप बदल दिए हैं। बताते है कि बदले गए कुछ डीएसपी ने नई जगह कार्यभार भी संभाल लिया है। वैसे पुलिस में होने वाले आईपीएस और एचपीएस अफसरों के तबादलों के हर आदेश को सरकार का गृह विभाग अपनी वेबसाइट पर भी डालता है, लेकिन अब ऐसा नहीं हो रहा। कुछ दिन पहले बदले कुछ अफसरों के तबादलों के आदेश कई दिन बाद ही विभाग की वेबसाइट पर डाले गए थे। ऐसे में संभव है कि जो आदेश अब हुए हैं, वे कुछ दिन बाद वेबसाइट पर नजर आएं।

सुत्रों के मुताबिक सरकार ने तबादलों पर रोक लगाने के बाद जो डीएसपी बदले है उन में पूर्व सीएम धूमल के सुरक्षा अधिकारी रहे प्रमोद शुक्ला को शिमला में डीएसपी हैडक्वार्टर लगाया है। सरकार के आदेशों के अगले ही दिन उन्होंने ज्वाइनिंग भी दे दी है। सरकार ने इस पद पर तैनात दुष्यंत सरपाल को डीएसपी राजगढ़ लगाया है। वहीं, सरकार ने डीएसपी योगेश को स्टेट विजिलेंस लगाया है, जबकि सोलन में विजिलेंस में तैनात डीएसपी श्वेता ठाकुर को छठी बटालियन कोलर भेजा गया है। उधर, आईजी साउथ रेंज से एचपीएस अधिकारी अमित शर्मा को डीएसपी दाड़लाघाट लगाया है। डीएसपी मीनाक्षी को भी सरकार ने छठी बटालियन में तैनाती दी है। गौर हो कि प्रदेश सरकार ने तीन फरवरी को धर्मशाला में हुई कैबिनेट बैठक में तबादलों पर रोक का फैसला लिया था। कल सोमवार को सामान्य तबादलों पर रोक को लेकर अधिसूचना भी जारी कर दी गई थी। इसके बावजूद सरकार ने तबादले किए हैं।

बताते हैं कि सरकार ने करीब 50 डीएसपी को बदलने को लेकर सूची तैयार कर रखी है, लेकिन अभी तक बदला नहीं है। केवल छांटकर बीच से कुछ इधर-उधर किए हैं। सरकार द्वारा खुद तबादलों पर रोक लगाने के बाद इनकी ट्रांसफर आर्डर सावर्जनिक नहीं किए जा रहे। ट्रांसफर आर्डर की कापी डीजीपी ऑफिस भेजी जा रही है। वहां से अधिकारी को सरकार के आदेशों से अवगत कराया जा रहा है।

Advertisements

- Advertisement -

%d bloggers like this: