- Advertisement -

Contract की अवधि तीन से घटकर दो वर्ष होने से 20 हजार से अधिक को होगा लाभ

0

- Advertisement -

शिमला। Himachal Pradesh All Contract Employees’ Federation ने नियमितिकरण की मांग फिर उठाई है। महासंघ ने सरकार से मांग की है कि अनुबंध पर रखे कर्मचारियों की अनुबंध की अवधि को दो वर्ष की जाए। इस समय अनुबंध की अवधि तीन वर्ष है और अनुबंध के रूप में तीन वर्ष का कार्यकाल पूरा होने के बाद इन्हें नियमित किया जाए। 

 हिमाचल प्रदेश सर्व अनुबंध कर्मचारी महासंघ ने अब मांग उठाई है कि इस अवधि को तीन वर्ष से घटाकर दो वर्ष किया जाए। महासंघ के अध्यक्ष पवन कुमार, महासिचव कुशल ठाकुर व उपाध्यक्ष सुरेश ठाकुर समेत अन्य कर्मचारी नेताओं ने कहा कि दो वर्ष का अनुबंध करने की मांग को लेकर वे पहले ही कई मंत्रियों और विधायकों से मिल चुके हैं। इन नेताओं ने सीएम जयराम ठाकुर से कहा कि उनकी एक मात्र मांग अनुबंध की अवधि को तीन वर्ष से घटाकर दो वर्ष करने की है। महासंघ अध्यक्ष पवन कुमार ने कहा कि इस फैसले से राज्य में विभिन्न विभागों में तैनात 20 हजार से अधिक अनुबंध कर्मी लाभांवित होंगे। उन्होंने उम्मीद जताई कि सरकार के अगले वित्त वर्ष के बजट में उनकी यह मांग पूरी होगी।

पवन कुमार ने कहा कि सीएम जयराम ठाकुर ने सत्ता में आते ही नियमित कर्मचारियों को तीन फीसदी डीए और 8 फीसदी अंतरिम राहत दी है। लेकिन, अनुबंध कर्मी डीए और अंतरिम राहत से वंचित हैं। उनका कहना था कि अनुबंध कर्मचारिओं का वेतन बहुत कम है और ऐसे में उनकी अनुबंध अवधि कम करने की मांग जायज है और उस पर सरकार को गंभीरता से विचार करना चाहिए।

- Advertisement -

%d bloggers like this: