Advertisements

Bofors तोप के बाद 30 साल बाद भारत पहुंची Howitzer तोप

- Advertisement -

howitzer gun: नई दिल्ली। भारतीय सेना का 30 साल लंबा इंतजार खत्म होने को है। 30 साल पहले 1986 में बोफोर्स तोप के बाद अब ऑप्टिकल फायर कंट्रोल वाली एम-777 हॉवित्जर तोप भारत पहुंच गई है। इस तोप का परीक्षण गुरुवार को पोखरण रेंज में किया जाएगा। बता दें कि भारत ने अमरीका के साथ 2900 करोड़ की डील की है। इस डील के तहत अमरीका भारत को 145 तोपें देगा। इन तोपों की खूबी की बात करें तो ऑप्टिकल फायर कंट्रोल वाली हॉवित्जर से 40 किलोमीटर तक निशाने पर सटीक वार किया जा सकता है। यह तोप डिजिटल फायर कंट्रोल के साथ एक मिनट में 5 राउंड फायर करने में सक्षम है।

howitzer gun: 500 करोड़ के सेल्फ प्रोपेल्ड गन का कॉन्ट्रैक्ट भी तैयार

गौरतलब है कि इस तोप का उपयोग अमरीका द्वारा अफगानिस्तान में किया जा रहा है। इन तोपों को बनाने में टाइटेनियम का उपयोग किया गया है। 155 एमएम की रेंज में होवित्जर अकेली ऐसी तोप है जिसका वजन 4200 किलोग्राम से भी कम है। इन तोपों का उपयोग जम्मू-कश्मीर और अरुणाचल जैसे पहाड़ी और दुर्गम क्षेत्रों में किया जा सकता है। इन तोपों में से अधिकतर तोपों का निर्माण भारत में ही होगा। इसके साथ ही 500 करोड़ रुपए के सेल्फ प्रोपेल्ड गन का कॉन्ट्रैक्ट भी तैयार कर लिया गया है। इस गन को एलएंडटी और सैमसंग टैकविन द्वारा बनाया जाएगा।

यह भी पढ़ें: शिशु के शव को खाता रहा कुत्ता और लोग बनाते रहे Video

Advertisements

- Advertisement -

%d bloggers like this: