- Advertisement -

महासंघ के पदाधिकारी बोले, Virbhadra सरकार की तानाशाही का अंत

0

- Advertisement -

मंडी। हिमाचल प्रदेश अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ के प्रदेशाध्यक्ष सुरेंद्र ठाकुर, महामंत्री एनआर ठाकुर व अतिरिक्त महासचिव गोपाल झिल्टा ने कहा है कि प्रदेश में कर्मचारी व मजदूर विरोधी कांग्रेस सरकार का सूपड़ा साफ हो गया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार ने पांच वर्ष तक कर्मचारियों व मजदूरों को बरगलाने का काम किया तथा झूठे वादे कर उन्हें कदम-कदम पर छला, जिसके चलते कर्मचारियों ने कांग्रेस सरकार को सबक सिखाया। इन नेताओं ने कहा कि कांग्रेस सरकार हमेशा कर्मचारी विरोधी रही है और कभी भी अपने कार्यकाल में उन्होंने कर्मचारियों की मांगों को लेकर गंभीरता नहीं दिखाई।

कर्मचारी व मजदूर विरोधी फैसलों का कांग्रेस ने भुगता खामियाजा

पांच सालों में संयुक्त सलाहकार समिति की 10 बैठकों की जगह केवल मात्र एक बैठक आयोजित की और वह भी बेनतीजा साबित हुई, जिससे कर्मचारियों में भारी रोष था और उन्होंने अपने गुस्से का इजहार सरकार को बदलकर किया। इन नेताओं ने कहा कि बीजेपी की सरकार धूमल के नेतृत्व में हमेशा कर्मचारी हितैषी सरकार साबित हुई है और उन्हें उम्मीद है कि इस बार भी भारतीय जनता पार्टी की सरकार कर्मचारियों की समस्याओं को प्रमुखता से सुलझाने का प्रयास करेगी। इन नेताओं ने कहा कि महासंघ जल्दी ही राज्य स्तरीय एक बैठक का आयोजन करेगा, जिसमें कर्मचारियों की ज्वलंत समस्याओं बारे विस्तृत चर्चा होगी।

इसी बैठक में कर्मचारी व मजदूर वर्ग की मुख्य मुद्दों पर एक मांग सूत्र तैयार कर नवनिर्वाचित सरकार को प्रेषित किया जाएगा। इस बैठक में सरकार से जल्दी ही संयुक्त सलाहकार समिति की बैठक बुलाने का भी आग्रह किया जाएगा, ताकि पांच वर्षों से कर्मचारियों से संबंधित लंबित पड़े मामलों का निपटारा सरकार से करवाया जा सके।

- Advertisement -

Leave A Reply