- Advertisement -

माल ढुलाई विवादः राजबन सीमेंट उद्योग में तोड़फोड़, सुरक्षा कर्मियों से मारपीट, पुलिस तैनात

मल्टी एक्सल ट्राला सोसायटी की दो गाड़ियों के फैक्ट्री में पहुंचने पर हुआ विवाद

0

- Advertisement -

पांवटा साहिब। माल ढुलाई को लेकर दो ट्रक ऑपरेट्रर्स के बीच उपजा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। वीरवार शाम को कथित तौर पर सिरमौर ट्रक ऑपरेट्रर्स यूनियन के संचालकों द्वारा राजबन स्थित सीसीआई सीमेंट उद्योग परिसर में घुस कर तोड़फोड़ की गई। इसके बाद तुरंत ही कंपनी के बाहर भारी मात्रा में पुलिस बल तैनात कर दिया गया। माहौल गर्म होता देख स्वयं एएसपी सिरमौर वीरेंद्र ठाकुर, एसडीएम पांवटा एलआर वर्मा व डीएसपी प्रमोद चौहान मौके पर पहुंचे गए, जिसके बाद गुस्साए लोगों को शांत करवाया गया।

बता दें कि बीते कई दिनों से पांवटा साहिब में माल ढुलाई को लेकर सिरमौर ट्रक ऑपरेट्रर्स यूनियन व मल्टी एक्सल ट्राला सोसायटी के बीच विवाद चल रहा है। सीसीआई द्वारा माल ढुलाई का ठेका मल्टी ऐक्सल ट्राला सोसायटी को दिया गया है, जिसका सिरमौर ट्रक ऑपरेट्रर्स यूनियन द्वारा विरोध किया जा रहा है। बीते दिनों ठेका लेने के बाद मल्टी एक्सल सोसायटी के 6 ट्रक माल भरने उद्योग में गए थे, जिन्हें दूसरे पक्ष ने बाहर जाने से रोक दिया था। इसके बाद विवाद बढ़ गया और माहौल तनावपूर्ण हो गया था।

सीसीटीवी कैमरे तोड़कर उखाड़ दीं तारें, मौके पर पहुंचे एएसपी

वीरवार को मल्टी एक्सल ट्राला सोसायटी की दो गाड़ियों की फैक्ट्री परिसर में माल भरने पहुंची तो मामला फिर बिगड़ गया, जिसके बाद दूसरी यूनियन के गुस्साएं सदस्यों ने कंपनी के एडमिन ब्लॉक के दरवाजों के शीशे तोड़ दिए व सीसीटीवी कैमरे तोड़कर तारें उखाड़ दीं। उसके बाद जब गेट पर तैनात सुरक्षा कर्मियों ने ट्रक यूनियन के संचालकों को अंदर जाने से रोका तो बाहर खडे़ लोगों ने कंपनी के मेन गेट पर तैनात कर्मियों के साथ भी मारपीट की और साथ ही कंपनी प्रबंधन पर पत्थर और बांस आदि के डंडे फेंके, जिसके कारण दरवाजे व शीशे टूट गए हैं।

इसके बाद एएसपी सिरमौर वीरेंद्र ठाकुर पुलिस बल सहित मौके पर पहुंच गए और मामले को शांत किया। वहीं, एएसपी सिरमौर ने बताया कि फिलहाल स्थिति शांत है और कानून व्यवस्था सामान्य है। किसी भी तरह की अप्रिय घटना को रोकने के लिए कंपनी के बाहर पुलिस के जवान तैनात कर दिए गए हैं। जल्द ही दोनों पक्षों के बीच बैठक कर विवाद सुलझा लिया जाएगा।

- Advertisement -

Leave A Reply