- Advertisement -

स्किन कलर से जानिए कैसा है आप के पार्टनर का नेचर

Know about the Nature of your Partner with skin color

0

- Advertisement -

हम सभी का स्वभाव और सोचने का तरीका अलग-अलग होता है। जहां तक महिलाओं को समझने-जानने की बात है तो यह इतना आसान नहीं है लेकिन क्या आप जानते हैं कि उनकी त्वचा के रंग से उनकी स्वभाव के बारे में पता लगाया जा सकता है। कुछ लोग राशि, जन्म तिथि या जन्म माह से अपने पार्टनर का नेचर जानने की कोशिश करते हैं। स्थान, प्रकृति, जलवायु और मानव जींस के आधार पर सामान्यत: तीन रंग के स्किन कलर, गेहुआं, गहरा और गोरा, प्रचलित हैं जिनके आधार पर आप किसी भी व्यक्ति के स्वभाव की जांच कर सकते हैं।

सवाल यह है कि आपको कैसी लड़कियां पसंद हैं गोरी, काली, सांवली या फिर गेहुएं रंग की। अमूमन जिन लोगों की त्वचा का रंग गहरा या सांवला होता है वह स्वभाव से बेहद मेहनती और शारीरिक रूप से स्वस्थ रहते हैं। इनका मानसिक विकास इसलिए ज्यादा बेहतर तरीके से नहीं हो पाता क्योंकि ये लोग सामाजिक रिवाजों और परंपराओं से दूर रहते हैं। इस वजह से ये लोग अकेले रह जाते हैं, ये लोग मेहनती भी बन सकते हैं, उग्र भी और कभी-कभार परिस्थितियां ज्यादा खराब हो तो ये लोग अपराधी भी साबित होते हैं। आइए जानते हैं कि स्किन के कलर के अनुसार लड़कियों का स्वभाव और मिजाज कैसा होता है …

सांवली त्वचाः गहरे या सांवले रंग की लड़कियां बेहद मेहनती होती हैं। परिस्थितियां इनके हिसाब से न होने पर इस रंग वाली लड़कियां कठोर बन जाती हैं लेकिन प्यार और पार्टनर के मामले में यह मन की कोमल होती हैं। आप इस रंग वाली लड़कियों पर आंख बंद करके भरोसा कर सकते हैं।

गोरा या गुलाबी रंग: गोरे या गुलाबी रंग वाली लड़कियों को पढ़ने-लिखने का बहुत शौक होता है। इस तरह की लड़कियां बुद्धिमान होने के कारण अपने हर निर्णय को सोच-समझकर लेती है। प्यार के मामले में यह काफी प्रेक्टिकल होती हैं। गोरी त्वचा को दो श्रेणियों में विभाजित किया जा सकता है। पहली श्रेणी, गोरा और गुलाबी जिसे हल्का पिंकिश कह सकते हैं, इस रंग वाली महिलाएं देखने में बेहद आकर्षक होती हैं। ये बहुत बुद्धिमान और पढ़ने-लिखने की शौकीन होती हैं।

पेल या पीला रंगः इस रंग वाली लड़कियां अपने पार्टनर के प्रति पूरी तरह समर्पित और ईमानदार होती हैं। इन्हें अपनी जिंदगी में बहुत कम परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इस रंग वाली महिलाएं स्वभाव से विनम्र, गंभीर, धैर्यवान और वेल मैनर्ड होती हैं। जानकारों की मानें तो वे महिलाएं जो गोरी होती हैं, अपने साथी के प्रति समर्पित और बहुत सौभाग्यशाली कही जा सकती हैं। बहुत ही कम ऐसा होता है, जब इन्हें जीवन में आर्थिक परेशानी का सामना करना पड़े।

गेहुआं रंग : इस संसार में सबसे ज्यादा तादात गेहुएं रंग वाले लोगों की है। गेहुएं रंग को भी दो श्रेणियों में बांटा गया है। पहली श्रेणी, जो गोरे रंग की तरफ झुकाव रखते हों। ऐसे लोग जिनका रंग गेहुआं होते हुए भी थोड़ा गोरा दिखता है, वे लोग मेहनती और कभी-कभार बेहद आलसी हो जाते हैं। स्वभाव से इस रंग वाली लड़कियां मेहनती होती हैं लेकिन कभी-कभार यह बेहद आलसी हो जाती हैं। प्यार के मामले में इस रंग वाली लड़कियां अपने पार्टनर पर पूरी तरह निर्भर हो जाती हैं। दूसरी श्रेणी में वो लोग आते हैं जिनका गेहुंआं रंग, ज्यादा काले की तरह दिखता है। ये लोग धैर्य और सहनशक्ति के मामले में पिछड़ जाते हैं। ये लोग अपने आसपास किसी भी प्रकार की नॉनसेंस बर्दाश्त नहीं कर पाते।

जिन महिलाओं का रंग ना तो काला और ना गोरा होता है, वे धार्मिक कार्यों में रुचि रखती हैं। ये महिलाएं गृहस्थी संभालकर रखती हैं, मांगने से ज्यादा देने में विश्वास रखती हैं। लाइफ में ज्यादा टेंशन न लेने वाली ये महिलाएं विश्वसनीय भी होती हैं।

 

पंडित दयानन्द शास्त्री,
(ज्योतिष-वास्तु सलाहकार) 

- Advertisement -

Leave A Reply