बंद कमरे में दम तोड़ते पशुओं का मामलाः गौ माता रक्षा दल की दो टूक, पशुओं पर अत्याचार बर्दाश्त नहीं

हिमाचल अभी अभी ने प्रमुखता से उठाया था मामला

animal death case
86

- Advertisement -

लडभड़ोल। लांगणा पंचायत के खलारडू बाबड़ी के पास बने सार्वजनिक भवन में कमरे में बंद पशुओं की मौत मामले की खबर का गौ माता रक्षा दल और क्राइम इनवेस्टिंग टीम ने कड़ा संज्ञान लिया है। गौ माता रक्षा दल और क्राइम इनवेस्टिंग की टीम ने आज मौके का दौरा किया। गौ माता रक्षा दल ने साफ शब्दों में कहा है कि पशुओं के साथ ऐसे अत्याचार को बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। जनप्रतिनिधि ऐसी घटनाओं का संज्ञान लेकर उनपर अंकुश लगाएं। बता दें कि लडभड़ोल की पंचायत लांगणा में खलारडू बाबड़ी के पास बने सार्वजनिक भवन के कमरे में बंद पशु भूख और प्यास से तड़प-तड़प कर दम तोड़ रहे हैं।
इस खबर को हिमाचल अभी अभी ने प्रमुखता से उठाया था लांगणा के ही कुछ लोग अपनी फसलों को बचाने के लिए पशुओं को कमरे में बंद कर देते हैं। कमरे में बंदर पशु भूख और प्यास से तड़प-तड़प कर दम तोड़े देते हैं। आलम यह है कि पांच दिन से पशुओं के मृत शरीर भी कमरे में पड़े हुए हैं। उनको उठाने वाला कोई नहीं है। न ही पंचायत प्रतिनिधि आगे आ रहे हैं और न ही वह लोग जो पशुओं को कमरे में बंद करते थे। मृत पशुओं की दुर्गंध कमरे में फैली हुई है। कमरे के पास से गुजरना भी मुश्किल हो गया है।
गौ माता रक्षा दल और क्राइम इनवेस्टिंग टीम ने ऐसे हालात पर दुख प्रकट किया और पंचायत प्रतिनिधियों से संपर्क किया लेकिन कोई सकारात्कक जवाब नहीं मिला। सहायक निदेशक क्राइम इनेवस्टिंग एजेंसी देव राज कपिल ने कहा कि मौके पर जाकर निरीक्षण किया। वहां पर पशु मरे पड़े थे। गौ माता रक्षा दल महासचिव रविंद्र सिंह पटियाल ने कहा कि पशुओं के साथ हो रहा अत्याचार बिल्कुल भी नहीं बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। जन प्रतिनिधियों को ऐसी घटनाओं पर अंकुश लगाना चाहिए। 

- Advertisement -

Leave A Reply

%d bloggers like this: